Omicron Alarming Situation for India and World

Omicron Alarming Situation for India and World: Omicron के बढ़ते मामलों ने दिल्ली और महाराष्ट्र के बढ़ाई चिंता, तो वहीं France में corona के मामलों में रिकॉर्ड वृद्धि 1 दिन में एक लाख से अधिक मामले

Omicron Alarming Situation for India and World: Omicron के बढ़ते मामलों ने देश की सरकारी एजेंसियों की नींद उड़ा दी है तो वहीं corona से France की स्थिति बेहद ही खराब, एक दिन में 1 लाख से अधिक लोग हुए संक्रमित

Corona के नए वेरिएंट Omicron ने भारत सहित विश्व के अन्य देशों को अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर दिया है वैज्ञानिकों ने इसके संक्रमण को लेकर जो भविष्यवाणी की थी अब वह भविष्यवाणी सही साबित होते नजर आ रही है.

WHO सहित कई वैज्ञानिक संगठनों और डॉक्टरों ने Omicron को लेकर यह कहा था कि यह corona के अन्य Variant के मुकाबले ज्यादा तेजी से लोगों के बीच अपने संक्रमण को बढ़ाता है. अब यह बात सच होती दिख रही है.

भारत में अब Omicron के कुल मामलों की संख्या 422 हो गई है. अगर भारत में Omicron से संक्रमित राज्यों की बात करें तो Omicron का सबसे ज्यादा संक्रमण भारत के 2 राज्य महाराष्ट्र और दिल्ली में है.

महाराष्ट्र में अब Omicron संक्रमितों  की संख्या 108 हो गई है जबकि देश की राजधानी दिल्ली में  संक्रमितों  संख्या 79 तक पहुंच चुकी है.

देश में Omicron के मामलों में तीसरे नंबर पर गुजरात है जहां संक्रमितों की संख्या 43 है तो वहीं तेलंगाना में 41, केरल में 38 और तमिलनाडु में 34 संक्रमित पाए गए हैं.

मालूम हो कि अब ओमीक्रोन का संक्रमण भारत के 17 राज्यों तक पहुंच चुका है. अच्छी बात यह है कि अभी तक देश में Omicron से संक्रमित किसी भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है.

वहीं देश में ओमी क्रोम संक्रमण को मात देने वालों की संख्या 130 है. यानी कि कुल 422 संक्रमितों में से 130 लोग Omicron के संक्रमण से उबर चुके हैं.

Omicron के संक्रमण और Covid-19 के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए PM MODI ने बुजुर्गों और फ्रंटलाइन वर्कर्स(frontline workers) के लिए बूस्टर डोज(Booster dose) देने की घोषणा कर दी है.

साथ ही 15 से 18 वर्ष के बच्चों को भी corona वैक्सीन देने का ऐलान प्रधानमंत्री मोदी ने कल अपने संबोधन में किया है.

Corona के बढ़ते मामलों ने एक बार फिर से विदेशों में भी कोहराम मचाना शुरू कर दिया है कल फ्रांस में एक दिन में ही 100000 से अधिक corona के मामले दर्ज किए गए.

विकसित देशों में कोरोना के बढ़ते मामले चिंता का विषय हैं क्योंकि विकसित देशों की स्वास्थ्य व्यवस्था विकासशील देशों के मुकाबले ज्यादा बेहतर होती है और अगर वहां  मामले बढ़ रहे हैं तो भारत जैसे विकासशील देशों के लिए यह खतरे की घंटी है.