Unacademy Controversy: अनअकैडमी ने पढ़े-लिखे को वोट देने की अपील करने वाले शिक्षक को निकाला जमकर हो रहा है विरोध

Unacademy Controversy
Share

Unacademy Controversy: विवादित बयान देकर पॉपुलर हुए शिक्षक करण सांगवान(Karan Sangwan)  को नौकरी से हटाया लोग कर रहे हैं विरोध

Unacademy Controversy: टीचिंग प्लेटफार्म अनअकैडमी को लेकर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा. पहले तो अनअकैडमी के एक शिक्षक करण सांगवान(Karan Sangwan) ने छात्रों को पढ़ाई के दौरान कहा की पढ़े लिखे को ही वोट करना चाहिए, अनपढ़ों को नहीं. जैसे ही वीडियो वायरल हुआ अनअकैडमी निशाने पर आ गया. जहां एक तरफ अनअकैडमी का विरोध हो रहा था तो वही शिक्षक के समर्थन में भी काफी संख्या में लोग उतर आए.

Unacademy के करण सांगवान नौकरी से बर्खास्त: विरोध को देखते हुए अनअकैडमी ने वीडियो में विवादित बयान देने वाले शिक्षक करण सांगवान को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है.लेकिन शिक्षक की बर्खास्तगी के बाद भी विवाद कम नहीं हुआ बल्कि यह विवाद और बढ़ता जा रहा है. लोगों का कहना है कि आखिर शिक्षक ने क्या गलत कहा. पढ़े लिखे को वोट देने की अपील करना कहां गलत है. इन सब विवादों के बीच शिक्षक को निकाले जाने के पीछे क्या कारण थे उन कारणों को अन एकेडमी के संस्थापक ने मीडिया के सामने आकर उजागर किया है.

Unacdemy Co-founder रोमन सैनी ने शिक्षक करण सागवान को अनअकैडमी से निकले जाने को लेकर नियमों के उल्लंघन का हवाला दिया है. उनका कहना है कि हमारे शिक्षा के प्लेटफार्म से कोई भी व्यक्ति अपनी व्यक्तिगत राय नहीं रख सकता, यह नियमों का उल्लंघन है. अनअकैडमी के संस्थापक ने कहा कि अनअकैडमी एक शिक्षा मंच है जो गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए हमारी संस्था एक सख्त आचार संहिता का अनुसरण करती है. जिसका सिर्फ और सिर्फ यह उद्देश्य है कि हम निष्पक्ष ज्ञान प्रदान कर सकें और जो यहां शिक्षा लेने आते हैं उन्हें निष्पक्ष ज्ञान की प्राप्ति हो.

वहीं शिक्षक को निकाले जाने के बाद कुछ मीडिया रिपोर्ट में यह भी दावे किए जा रहे हैं कि लोग अब पूरी तरह से खुलकर शिक्षक के समर्थन में आ गए हैं. कई लोगों का यह भी दावा है कि उन्होंने अनअकैडमी के ऐप को डिलीट कर दिया है. अब अनअकैडमी के लिए बेहद ही मुश्किल की स्थिति है क्योंकि एक तरफ जहां शिक्षक को नहीं निकाले जाने के कारण भारी दबाव का सामना कर रही थी तो वहीं अब उसे शिक्षक को निकाले जाने के बाद विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

यहां यह बता दें कि शिक्षक ने जो बात अपने वीडियो में कहा वह कहीं से भी अनुचित नहीं जान पड़ता लेकिन अगर इस बात की पड़ताल करेंगे तो यह बात भी सामने आएगी कि जो बात शिक्षक ने कही है वह कुछ दिन पहले ही आम आदमी पार्टी मुखिया अरविंद केजरीवाल ने कही थी और उनकी पार्टी इसे एक मुहिम के तौर पर चल रही है. इसलिए शिक्षक द्वारा दिया गया बयान सीधे-सीधे बीजेपी के विरोध करने जैसा प्रतीत हो रहा है.

 

वहीं शिक्षक को निकल जाने के बाद अब राजनीतिक दल भी इस मुद्दे पर राजनीति करने लगे हैं अरविंद केजरीवाल ने शिक्षक के द्वारा दिए गए बयान का समर्थन किया है साथ ही शिक्षक को नौकरी से निकले जाने पर  दुख प्रकट किया है.इस मुद्दे पर विवादित बयान देने वाले शिक्षक करण सांगवान का भी बयान सामने आ गया है.उपर विडियो में देखिये करण सांगवान ने क्या कहा.

Recent Post

Youtuber Abdullah Pathan Case: इस तरह बनाते हैं वीडियो तो सावधान National Film Awards 2023 आलिया भट्ट और अल्लू अर्जुन का दबदबा Rocky aur Rani ki prem kahani Teaser Release Alia Bhatt का धमाल Alia Bhatt in Ramayan: आलिया भट्ट सीता की भूमिका में आएंगी नज़र IIFA 2023 Salman Khan सहित बॉलीवुड के सितारों का लगा जमावड़ा