manipur terror attack CO Viplav Tripathi

MNPF ने मणिपुर(Manipur) टेरर अटैक की जिम्मेदारी स्वीकार कर ली है, लोगों में इस घटना के बाद आक्रोश का माहौल है

MNPF यानी मणिपुर नागा पीपल्स फ्रंट ने मणिपुर(Manipur) में हुए टेरर अटैक की जिम्मेदारी स्वीकार कर ली है. मालूम हो कि आज घात लगाकर हमला करने के कारण असम राइफल्स के CO समेत 5 जवानों की मौत हो गई थी.

इस हमले में असम राइफल के कमांडिंग ऑफिसर(CO) विप्लव त्रिपाठी की पत्नी और उनके दो बच्चों की भी जान चली गई.

आज मणिपुर नागा पीपुल्स फ्रंट(MNPF) के उप प्रचार सचिव रोबेन खुमान और थामस ने नुमाई ने एक साझा बयान जारी किया है. इस बयान में सुरक्षाकर्मियों के लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं.

उग्रवादी संगठन ने एक नोट जारी कर यह कहा है कि संगठन को हमले से पहले इस बात की जानकारी नहीं थी कि जवानों के दस्ते में कर्नल कए परिवार के सदस्य भी शामिल हैं.

इस नोट में चेतावनी के लहजे में यह कहा गया है कि जो जगह संवेदनशील है उन जगहों पर सेना के जवान अपने परिवारों को ना रखें और वहां अपने साथ इनको लेकर ना जाएं.

इस हृदय विदारक घटना में असम राइफल के कमांडिंग ऑफिसर विप्लव त्रिपाठी और उनकी पत्नी के साथ उनके दो बच्चे भी मारे गए. कर्नल विप्लव त्रिपाठी और उनके परिवार के सदस्यों के शव को विमान के द्वारा रायगढ़ लाया जाएगा.

इस आतंकवादी घटना के बाद मणिपुर के CM बीरेन सिंह ने सख्त तेवर में कहा है कि इस घटना में शामिल किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा.

इस घटना के तुरंत बाद भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस घटना में शहीद हुए जवानों के लिए संवेदना व्यक्त की थी और कहा था कि हम इस कायरता पूर्ण कार्य की निंदा करते हैं.

ये भी पढें…

मणिपुर(Manipur) में उग्रवादी हमले में कमांडिंग ऑफिसर समेत 5 सैनिक हुए शहीद