Nupur Sharma

UP सहित देश के कई राज्यों में जुमे की नमाज के बाद नूपुर शर्मा(Nupur Sharma) को लेकर भारी विरोध प्रदर्शन पत्थरबाजी में कई बड़े पुलिस अफसर घायल

नूपुर शर्मा(Nupur Sharma) के बयान पर जुमे की नमाज के बाद UP समेत देश के कई शहरों में भारी उपद्रव, कहीं नूपुर शर्मा को फांसी दिए जाने की बात तो कहीं सर कलम कर दिए जाने के पोस्टर लहराए गए..

नूपुर  शर्मा (Nupur Sharma) द्वारा पैगंबर पर दिए गए  विवादास्पद बयान पर माफी मांगने के बाद भी मामला ठंडा पड़ता नहीं दिख रहा. आज जुमे की नमाज के बाद UP समेत देश के विभिन्न हिस्सों से भारी उपद्रव के समाचार प्राप्त हो रहे हैं.

सबसे अधिक विरोध प्रदर्शन की घटनाएं यूपी में हुई है. जहां प्रयागराज(Prayagraj) में भारी उपद्रव मचाया गया है. जुमे की नमाज के बाद कुछ शरारती तत्वों ने जमकर पत्थरबाजी की. प्रयागराज में  उपद्रवियों ने PAC के ट्रक को आग के हवाले कर दिया.

जब पुलिस पर  प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की तो पुलिस को जवाबी कार्रवाई में लाठीचार्ज करना पड़ा. अभी तक लाठीचार्ज की घटना में कितने लोग घायल हुए हैं इसके बारे में पूरी सूचना प्राप्त नहीं हुई है.मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस के कई आला अधिकारियों को भी चोट पहुंची है.

देश के विभिन्न राज्यों से जिसमें दिल्ली कर्नाटक बंगाल में उपद्रव की घटना हुई है. जहां लोग सड़कों पर उतर आए और कहीं नूपुर शर्मा को फांसी दो तो कहीं नूपुर शर्मा का सर कलम करो के नारे लगाते हुए नजर आए. वहीं दिल्ली जामा मस्जिद के बाहर विरोध प्रदर्शन होने के बाद दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम का बड़ा बयान सामने आया है.

दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम ने कहा है कि हमें नहीं मालूम कि प्रदर्शनकारी कौन थे. हम प्रदर्शनकारियों को नहीं पहचानते. मालूम हो कि दिल्ली में जुमे की नमाज में लगभग डेढ़ हजार के करीब लोग शामिल हुए थे और करीब 300 से भी अधिक लोग मस्जिद से बाहर आकर भाजपा के पूर्व नेता और प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ नारेबाजी करने लगे.

शाही इमाम ने अपने बयान में साफ कहा है कि हमने विरोध प्रदर्शन के लिए किसी प्रकार का कोई आह्वन नहीं किया था. उनका कहना है कि सभी नमाजियों ने शांतिपूर्ण ढंग से जुमे की नमाज अदा की और उसके बाद जब वह लोग मस्जिद से बाहर निकले तो अचानक से हंगामा शुरू हो गया और ऐसे में हम यह नहीं कह सकते कि विरोध प्रदर्शन करने वाले लोग कौन थे.

शाही इमाम ने एक बड़ी बात कही है. उन्होंने कहा कि  हमें ऐसा लगता है कि विरोध प्रदर्शन करने वाले लोगों में ओवैसी की पार्टी के लोग शामिल थे. बताते चलें कि दिल्ली पुलिस ने नूपुर शर्मा के साथ-साथ ओवैसी पर भी एफ आई आर दर्ज किया है. पुलिस ने नूपुर शर्मा असदुद्दीन ओवैसी समेत 32 लोगों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. ऐसे में शाही इमाम का यह कयास लगाए जाना कि विरोध प्रदर्शन करने वाले लोगों में AIMIM के सदस्य हो सकते हैं, सही भी हो सकता है.