UP Election Result

UP Election Result:वोटों की गिनती से पहले ही Delhi BJP मुख्यालय में जश्न की तैयारी

UP Election Result: भाजपा अपनी जीत को लेकर आश्वस्त दिल्ली BJP मुख्यालय में जश्न की तैयारी फोटो हुआ वायरल

उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में अभी वोटों की गिनती भी शुरू नहीं हुई है लेकिन बीजेपी अपनी जीत को लेकर बेहद ही आश्वस्त नजर आ रही है. बीजेपी ने जीत के बाद मनाए जाने वाले जश्न की तैयारी भी जोर-शोर से शुरू कर दी है.

celebration

सोशल मीडिया पर दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय की कुछ तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही हैं, जिसमें यह साफ देखा जा सकता है कि BJP मुख्यालय के भीतर टेंट लगाए जा रहे हैं कुर्सियां सजाई जा रही हैं.

celebration for victory

इन तस्वीरों को देखने से तो यही लगता है कि बीजेपी अपनी जीत को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त है वहीं दूसरी तरफ UP में एक बार फिर से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(EVM) को लेकर हंगामा मचा हुआ है.

कई जगह पर ईवीएम मशीन को अफसरों द्वारा अपनी गाड़ी में भरकर ले जाने की बात कही जा रही है. कई जगहों पर चुनाव आयोग द्वारा अफसरों को सस्पेंड भी किया गया है तो वहीं कई अफसरों को चुनाव कार्य से पूरी तरह से अलग कर दिया गया है.

समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी सपा कार्यकर्ताओं से कहा है कि वह चौकन्ना रहें क्योंकि ईवीएम में गड़बड़ी हो सकती है.

आज सुबह 8:00 बजे से वोटो की गिनती शुरू हो जाएगी. अब इसमें बहुत ही कम समय बचा है. किसकी जीत होगी किसकी हार होगी यह तो अभी ईवीएम में बंद है लेकिन नेताओं के हाव-भाव से यह पता चलने लगा है कि सत्ता किसके हाथ लगेगी.

कुछ एग्जिट पोल को छोड़ दें तो ज्यादातर एग्जिट पोल में बीजेपी की फिर से वापसी दिखाई गई है. बीजेपी की वापसी को लेकर इसलिए भी कयास लगाए जा रहे हैं क्योंकि समाजवादी पार्टी को सबसे ज्यादा हानि बीजेपी से नहीं बल्कि बहुजन समाजवादी पार्टी(BSP) से होगी ये बात काफी हद तक तय है.

ऐसा इसलिए क्योंकि वोटिंग के दौरान और वोटिंग के बाद जो सर्वेक्षण किए गए उसमें ज्यादातर जगहों पर जहां पर दलित आबादी ज्यादा है वहां के वोटरों में मायावती के प्रति झुकाव साफ झलकता था.

चुकी अखिलेश और मायावती के बीच वोटों का बंटवारा निश्चित रूप से हुआ है लेकिन बीजेपी के जो वोटर थे उसमें सेंध लगने की बात अभी तक सामने नहीं आ पाई है. इस कारण ऐसा कहा जा सकता है कि बीजेपी के वोटों का बंटवारा नहीं हुआ जबकि समाजवादी पार्टी के वोटों का बंटवारा कांग्रेस और मायावती दोनों के बीच हुआ है.

समाजवादी पार्टी के वोटों के बट जाने के कारण समाजवादी पार्टी को चुनाव में तगड़ा झटका लग सकता है लेकिन अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी क्योंकि अभी EVM का खुलना बाकी है.