The Bharat Bandhu

Tokyo Paralympics Gold: टोक्यो पैरालिंपिक्स में राजस्थान के हाथ लगा सोना, अवनी लेखरा (Avani Lekhara) ने निशानेबाजी (Shooting) में हासिल किया स्वर्ण पदक(Gold Medal)

IMG 20210830 111553 द भारत बंधु

Tokyo Paralympics में राजस्थान की अवनी लेखरा ( Avani Lekhara) ने निशानेबाजी(Shooting) में गोल्ड मेडल (Gold Medal) हासिल  कर  लिया है

गोल्ड मेडल की यह उपलब्धि इसलिए भी खास है क्योंकि इस गोल्ड मेडल को हासिल करने के बाद अवनी  लेखरा  भारत की पहली महिला एथलीट बन गई हैं, जिन्होंने पैरालिंपिक्स में गोल्ड मेडल हासिल किया है.

अवनी को एक एक्सीडेंट के दौरान रीढ़ की हड्डी में चोट लगी थी. लेकिन अवनी ने इस चोट को अपनी कमजोरी नहीं बनने दी.

2021 में आयोजित ओलंपिक में शूटिंग सेे भारतीयों को बहुत उम्मीद थी. लेकिन यह उम्मीद पूरी नहीं हो पाई थी. ओलंपिक में भारत के लिए एकमात्र गोल्ड मेडल जैवलिन थ्रो में   आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने हासिल किया था.

अगर बात पैरालंपिक्स की करें तो इसमें  अवनी ने 249 पॉइंट हासिल किया और 10 मीटर एयर राइफल के क्लास sh1 फाइनल में Gold पर निशाना लगाने में कामयाब हो गई.

पैरालंपिक में भारत के पास 4 मेडल आ चुके  हैं जिसमें एक गोल्ड मेडल 2 सिल्वर मेडल और एक ब्रोंज मेडल शामिल है.

यहां यह बताना जरूरी है कि ब्रोंज मेडल   में विनोद के क्वालीफाइंग क्राइटेरिया को लेकर कुछ सवाल खड़े किए गए हैं. जिस कारण अभी इस मेडल को होल्ड पर रखा गया है.

पैरालिंपिक्स में शामिल होने के लिए  दिव्यांगता की श्रेणी निर्धारित की जाती है. अगर कोई उस श्रेणी में फिट नहीं बैठता तो उसकी जांच की जाती है और सही पाने पर उसके मेडल को रद्द किया जा सकता है.

खुशी की बात यह है कि विनोद को प्रथम जांच में क्लीन चिट मिल गई थी. अब देखना यह है कि ब्रोंज मेडल के लिए 30 तारीख को पैरालंपिक समिति क्या निर्णय लेती है.

 

 

देश