varanasi corona condition

COVID-19 से हुयी मौत पर PM MODI के VARANASI से एक बेटी की गुहार कभी इनके पिता के पैर छूते थे प्रधानमंत्री

CORONA की दूसरी लहर से पूरे देश में कोहराम मचा है. मौतों का आंकड़ा दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. कल भी बीते 24 घंटे में 3000 से अधिक लोगों ने COVID-19 महामारी के कारण दम तोड़ दिए. वहीं corona महामारी से PM MODI के संसदीय क्षेत्र VARANASI की स्थिति भी भयावह हो गई है. क्या पक्ष क्या विपक्ष अब सभी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है. एक तो COVID-19 कि त्रासदी से लोग परेशान हैं और दूसरी तरफ प्राइवेट अस्पतालों के कुप्रबंधन से भी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. अब तो हर रोज लापरवाही की घटनाएं बड़े से लेकर छोटे शहरों से सामने आ रही हैं जिसमें अस्पताल प्रबंधन द्वारा कोताही बरतने के आरोप लगाए जा रहे हैं. इसी संदर्भ में पद्म विभूषण छन्नू लाल मिस्र जी की बेटी का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. मालूम हो कि ये वही छन्नूलाल मिश्र हैं जो प्रधानमंत्री मोदी के लिए प्रस्तावक बने थे जब प्रधानमंत्री मोदी लोकसभा के लिए वाराणसी से पर्चा दाखिल कर रहे थे. इस वीडियो में नम्रता मिश्रा प्रधानमंत्री मोदी से यह गुहार लगा रही हैं जिस व्यक्ति के पैर छूकर प्रधानमंत्री आशीर्वाद लिया करते थे आज उसी व्यक्ति का परिवार असहाय स्थिति में है. उसकी पत्नी मर गई है उसकी बेटी मर गई है लेकिन कोई मदद को आगे नहीं आ रहा. नम्रता मिश्र का कहना है उनकी बहन की मौत नहीं हुई है बल्कि उनकी हत्या की गई और यह हत्या अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही की वजह से हुई है. वो बार-बार मांग कर रही हैं कि मोदी जी मुझे न्याय चाहिए मुझे सीसीटीवी फुटेज दिखाई जाए जिससे यह पता चल सके कि मेरी बहन की मौत कैसे हुई है. मालूम हो कि छन्नूलाल मिश्रा की पत्नी का देहांत corona से हो गया था उसके बाद फिर उनकी बेटी की भी मौत corona से हो गई. नम्रता मिश्र का आरोप है कि जब उसकी बहन अस्पताल में भर्ती थी तो उन लोगों को कभी भी उनसे मिलने नहीं दिया गया. बार-बार अलग-अलग बहाने बनाये गये और टाल दिया गया.नम्रता मिश्र का कहना है कि मुझे मेरी बहन की तस्वीर भी नहीं दिखाई गई. अस्पताल में इस घटना के कारण  काफी हंगामा मचने के बाद कोतवाली पुलिस ने एक तहरीर लिख ली है वहीं डीएम ने भी जांच के आदेश दे दिए हैं.

इस घटना को लेकर संदीप कुमार नाम के एक TWEETER यूजर ने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो पोस्ट किया है..

 

UP में अभी तक 13.4 लाख कोरोना के मामले आए हैं और 13447 लोगों की मौत हो चुकी है. राहत की बात यह है कि लगभग 10.4 लख लोगों ने इस महामारी को मात देकर स्वस्थ भी हो गए हैं. अगर बात वाराणसी की करें तो यहां अभी तक कुल 701 मौतें हुई है और अभी कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 13305 है. यूपी में सबसे ज्यादा  खराब स्थिति प्रदेश की राजधानी लखनऊ की है. यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 36384 है और कुल मौतों का सरकारी आंकड़ा 1883 है.

Corona महामारी में OXYGEN की कमी को लेकर DELHI HIGH COURT ने एक बार फिर से केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है. आज मंगलवार को सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि DELHI में ऑक्सीजन की आपूर्ति सही तरीके से नहीं की जा रही है. दिल्ली को जितनी जरूरत है उतनी ऑक्सीजन नहीं मिल रही है. हाईकोर्ट ने बड़े ही तल्ख अंदाज में कहा की आपकी आंखें नहीं हों लेकिन हमें सब कुछ दिखता है. आप अंधे हो सकते हैं हम नहीं.

मालूम हो कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी से लगातार corona मरीजों की स्थिति खराब होती जा रही है. साथ ही गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीज जो ICU में भर्ती हैं और जिन्हें ऑक्सीजन की सख्त जरूरत होती है उनको भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. आए दिन प्राइवेट हॉस्पिटलों से ऑक्सीजन इमरजेंसी की घोषणा होती रहती है. बीते दिनों BATRA HOSPITAL ने अपने यहां वैसे मरीजों की भर्ती लेने से मना कर दिया जिन्हें की ऑक्सीजन की जरूरत थी. कुछ दिन पहले ही बत्रा हॉस्पिटल में 12 मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी से हो गई थी जिसको लेकर काफी हंगामा मचा था.

BENGAL ELECTION RESULT: BENGAL में अपनी सीट पर हार का सामना करने वाली TMC प्रमुख और वर्तमान CM MAMTA BANERJEE ने कई राज़ खोले, BJP और EC पर लगाये कई गंभीर आरोप

 

GURU TEGH BAHADUR के 400 वें प्रकाश पर्व पर PM MODI ने गुरुद्वारा शीश गंज में मत्था टेका, corona काल में प्रधानमंत्री के इस आचरण पर लोग उठा रहे हैं सवाल

COVID-19: कोरोना से देश की हालत गंंभीर, अब VVIP भी इसकी ज़द में…भूलोक तो भूलोक देवलोक में भी इसकी चर्चा ???