Delhi Traffic Lights

Now No Child Will be Seen Begging at Delhi Traffic Lights: दिल्ली में ट्रैफिक लाइट पर अब नहीं दिखेंगे भीख मांगते गरीब बच्चे जानिए ऐसा क्यों

Now No Child Will be Seen Begging at Delhi Traffic Lights:दिल्ली सहित कई शहरों में ट्रैफिक पर भीख मांगते बच्चे दिखाई देते हैं लेकिन अब दिल्ली में नहीं दिखेंगे यह बच्चे जानिए इसके पीछे का कारण

अमूमन सभी बड़े शहरों की ट्रेफिक लाइट(Traffic Light) पर ऐसे बच्चे मिल जाते हैं जो ट्रैफिक सिग्नल रेड होते ही वहां से गुजरने वाली गाड़ियों के पास आकर पैसा मांगते हैं.इन बच्चों की दशा देखकर किसी भी आदमी की ममता जाग सकती है और अधिकतर लोग कुछ न कुछ पैसे  बच्चों को दे देते हैं.

a child at Delhi traffic lights

जब इन बच्चों को लोगों द्वारा पैसा मिलता है तो इसका वे क्या करते हैं, इसका जवाब हर बार सकारात्मक हो ऐसा नहीं है. इसमें शामिल अधिकतर बच्चों को नशे की लत लग जाती है और ट्रेफिक लाइट पर मांगे गए पैसों से पेट की भूख मिटाने के साथ-साथ वैसे पदार्थों का सेवन भी करने लग जाते हैं जिससे यह गंभीर रूप से नशे की गिरफ्त में आ जाते हैं.

ट्रैफिक सिग्नल पर पैसे मांगने वाले बच्चों के लिए समय-समय पर कई गैर सरकारी संगठनों(NGO) और सरकारों द्वारा पुनर्वास कार्यक्रम चलाए जाते हैं लेकिन इसके बावजूद इस समस्या का खात्मा पूर्ण रूप से नहीं हो पाता है और दिन प्रतिदिन इन बच्चों की संख्या ट्रेफिक लाइट पर बढती जाती है.

इस समस्या के स्थाई समाधान के लिए दिल्ली की आम आदमी(AAP) सरकार ने एक नई शुरुआत की है. जिसके बारे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जानकारी दी है. देखिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्रैफिक सिग्नल पर भीख मांगते हुए बच्चों के लिए क्या कहा.

अगर दिल्ली सरकार की यह योजना कारगर साबित होती है तो इन बच्चों का शिर्फ पुनर्वास ही नहीं होगा बल्कि इनका संपूर्ण विकास भी हो पाएगा क्योंकि दिल्ली सरकार की इस योजना में इनके रहने खाने और पढने की पूर्ण व्यवस्था की जाएगी जैसा की केजरीवाल द्वारा वादा किया जा रहा है.