No School Without Vaccine

No School Without Vaccine: हरियाणा में बच्चों को corona टीके के बिना स्कूल में नो इंट्री

No School Without Vaccine: 15 से 18 साल के बच्चों के लिए हरियाणा सरकार ने एक सख्त फैसला लिया है जिसके अंतर्गत स्कूल खुलने पर जो बच्चे  Vaccine नहीं लेंगे उन्हें स्कूल में एंट्री नहीं दी जाएगी

Corona के बढ़ते मामलों  को देखते हुए हरियाणा सरकार लगातार कड़े फैसले लेते जा रही है. आज हरियाणा सरकार में गृह मंत्री अनिल विज ने बच्चों के स्कूल जाने और वैक्सीन लेने के संबंध में एक बड़ी बात कही है.

अनिल विज ने कहा बच्चों की सुरक्षा के लिए यह जरुरी है कि जब स्कूल खुले तो उन्हीं बच्चों को स्कूल में आने की अनुमति हो जिनको कोरोना का टीका दिया जा चुका हो.

अनिल विज ने संवाददाताओं से कहा कि अभी तक हरियाणा में 700000 बच्चों को corona वैक्सीन की पहली डोज दे दी गई है साथ ही उन्होंने यह बात बडे ही सख्त होते हुए  कहा कि अगर जो बच्चे वैक्सीन नहीं लेंगे उन्हें हम स्कूल खुलने पर इंट्री नहीं देंगे.

अनिल विज ने यह भी बताया कि हरियाणा में ज्यादा मामले फरीदाबाद सोनीपत और गुरु ग्राम से आ रहे हैं. उन्होंने आगे बताया कि राज्य में हंड्रेड परसेंट वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा कर लिया गया है. यहां बतला दे कि हंड्रेड परसेंट वैक्सीनेशन में सिंगल डोज की बात की जा रही है.

हरियाणा के गृह मंत्री ने राज्य में डबल डोज लेने वालों का भी प्रतिशत बतलाया, उन्होंने कहा कि राज्य में अभी तक 70% लोगों को corona की दूसरी डोज भी दी जा चुकी है.

वहीं चुनावी राज्य उत्तर प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के 93.25% लोगों को corona वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है साथ ही 15 से 18 आयु वर्ग के 37% बच्चों को भी corona वैक्सीन की पहली डोज दे दी गई है. अगर प्रिकॉशन डोज की बात करें तो उत्तर प्रदेश में 387000 लोगों को यह डोज लगाया जा चुका है.

अगर कुल वैक्सीन के आंकड़ों की बात करें तो उत्तर प्रदेश में अभी तक लगभग 23 करोड़ के आसपास वैक्सीन के डोज लगे हैं, जिसमें से 13.63 करोड़ पहली डोज लगाई गई है.

वहीं राजस्थान में corona के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं जिसे देखते हुए राजस्थान के जोधपुर में कर्फ्यू लागू कर दिया गया है और पुलिस ने यह साफ निर्देश दिए हैं कि कर्फ्यू के दौरान जो भी लोग corona नियमों का उल्लंघन करेंगे उनका शक्ति से चालान काटा जाएगा