Lalitpur Gang Rape Case

Lalitpur Gang Rape Case SHO Arrested: ललितपुर सामूहिक बलात्कार मामले में आरोपी SHO को UP पुलिस ने किया गिरफ्तार, प्रयागराज में छिपा बैठा था आरोपी इंस्पेक्टर

Lalitpur Gang Rape Case SHO Arrested:उत्तर प्रदेश(UP) ललितपुर सामूहिक बलात्कार मामले में प्रशासन ने उठाए सख्त कदम, आरोपी SHO तिलकधारी सिंह गिरफ्तार, गिरफ्तारी के बाद कहा सभी आरोप झूठे..

उत्तर प्रदेश(UP) में ललितपुर सामूहिक बलात्कार मामले (Lalitpur Gang Rape Case) में UP पुलिस को आज एक बड़ी सफलता हासिल हुई है. बलात्कार मामले में आरोपी SHO तिलकधारी सिंह(Tilakdhari Singh) को आज प्रयागराज(Prayagraj) से गिरफ्तार कर लिया गया है. एसएचओ तिलकधारी सिंह पर 13 साल की नाबालिग लड़की से बलात्कार(Rape) का आरोप है.

प्रयागराज में गिरफ्तारी के बाद आरोपी एसएचओ तिलकधारी सिंह ने अपनी गिरफ्तारी पर सवाल उठाए और कहा कि मुझे इस मामले में फंसाया जा रहा है और अगर इस मामले की सही तरीके से जांच होगी तो मैं निर्दोष साबित होऊंगा.

मालूम हो कि जिस लड़की के साथ बलात्कार का आरोप है SHO तिलकधारी सिंह पर लगा है वह थाने में अपने साथ हुए सामूहिक बलात्कार की शिकायत दर्ज कराने आई थी लेकिन तिलकधारी सिंह पर आरोप है कि केस दर्ज करने के बहाने उसने पीड़िता के साथ घिनौनी हरकत कर डाली.

ललितपुर सामूहिक बलात्कार मामले में अब राजनीति: ललितपुर सामूहिक बलात्कार मामले में अब राजनीति भी तेज हो गई है. आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) पीड़िता से मिलने अस्पताल पहुंचे और प्रदेश के कानून व्यवस्था और खासकर महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार को लेकर योगी सरकार को आड़े हाथों लिया.

अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि सरकार कानून व्यवस्था को लेकर सिर्फ खोखले वादे करती है और धरातल पर सच्चाई कुछ और है. बताते चलें कि ललितपुर मामले में अभी तक 29 पुलिसकर्मियों पर गाज गिर चुकी है. थाने में पदस्थापित सभी 29 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है और इस मामले की जांच DIG जोगेंद्र कुमार कर रहे हैं.

गौरतलब है कि ललितपुर में हुए जघन्य अपराध में पीड़िता का बयान कोर्ट में अभी तक दर्ज नहीं कराया जा सका है क्योंकि उसकी हालत खराब होने की वजह से उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि जैसे ही लड़की बयान देने की स्थिति में होगी वैसे ही पुलिस उसका बयान कोर्ट में 164 के तहत दर्ज कराएगी.