The Bharat Bandhu

Gujrat Morbi Cable Bridge Collapsed 60 Died: गुजरात मोरबी केबल पुल टूटने का भयानक मंजर 60 लोगों की मौत मृतकों की संख्या बढ़ने की संभावना

Gujrat Morbi Cable Bridge Collapsed

Gujrat Morbi Cable Bridge Collapsed: गुजरात के मोरबी में केबल ब्रिज टूटने से 60 लोगों की गई जान कई अन्य हुए घायल बढ़ सकती है मृतकों की संख्या.. सरकार ने दिए जांच के आदेश 7 महीने से बंद था पुल रिनोवेशन के बाद किया गया था चालू

Gujrat Morbi Cable Bridge Collapsed: गुजरात के मोरबी में केबल पुल टूटने के भयानक हादसे में अभी तक 60 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है.

गुजरात मोरबी का यह Cable Bridge करीब 7 महीने से मरम्मत के कारण बंद था और इसे 5 दिन पहले ही आम लोगों के लिए फिर से खोला गया था. लोगों का कहना है कि पुल पर अधिक संख्या में लोगों के पहुंचने की वजह से यह हादसा हुआ. जिस प्रकार से पुल टूटा है उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह हादसा कितना भयावह था.

राहत बचाव कार्य के लिए आपदा प्रबंधन विभाग ने कमर कस ली है. साथ ही इसके लिए एयरफोर्स की भी मदद ली जा रही है. नेवी की टीम को भी राहत बचाव कार्य में लगाया गया है. मृतकों को मुआवजे की राशि के तौर पर राज्य सरकार द्वारा 4-4 लाख देने की घोषणा हुई है तो वहीं घायलों को भी पचास हजार की राशी दी जाएगी. प्रधानमंत्री राहत कोष से भी मृतकों के लिए 2-2 लाख की सहायता राशि की घोषणा की गई है वहीं ₹50000 घायलों को दिए जाने की बात कही गई है.

गुजरात मोरबी की इस भयावह हादसे पर  प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, प्रदेश के मुख्यमंत्री, देश के गृहमंत्री, विपक्ष के नेता राहुल गांधी के साथ-साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख प्रकट किया है. राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से यह आग्रह किया है कि संकट की इस घड़ी में सभी मिलकर राहत बचाव कार्य में सहायता प्रदान करें.

वहीं इस घटना के बाद मोरबी में केबल पुल( मरम्मत करने वाली कंपनी पर भी सवाल उठने लगे हैं. लोगों का कहना है कि कंपनी ने जब मरम्मत कार्य किया तो उसे पूरी तरह से जांच परख लेना चाहिए था. वहीं दूसरी तरफ लोगों का यह भी कहना है कि रविवार का दिन होने की वजह से पुल पर अत्यधिक संख्या में लोग जमा हो गए थे.

क्योंकि गुजरात के मोरबी का यह केबल पुल(Gujrat Morbi Accident) करीब 7 महीने बाद एक बार फिर से आम लोगों के लिए खोला गया था. इसलिए अधिक संख्या में लोग पुल पर खड़े होकर सेल्फी ले रहे थे और ज्यादा भार के कारण पुल का एक हिस्सा टूट गया.

देश