bihar covid

BIHAR में COVID-19 मरीजों के लिए PAPPU YADAV ने बस घंटे भर में AMBULANCE ड्राइवरों की फौज खड़ी कर दी BJP नेता के ऑफिस परिसर में पड़ी-पड़ी धूल खा रही थी दर्जनों एंबुलेंस

BIHAR CORONA LIVE UPDATES

आज बिहार में एक अनोखा मामला सामने आया जहां covid-19 के इस दौर में लोगों की जान इसलिए नहीं बच पा रही है कि समय पर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती. वहीं बिहार में कहीं वेंटिलेटर तो कहीं एंबुलेंस (Ambulance) धूल खा रही हैं.

आज बिहार में जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव (Pappu Yadav) और BJP के नेता राजीव प्रताप रूडी के बीच इसी बात पर कहासुनी हो गई. पप्पू यादव ने बताया कि आज corona से जनता परेशान है मरीजों और शवों को ले जाने के लिए  वाहन उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं. वहीं राजीव प्रताप रूडी के ऑफिस में दर्जनों एंबुलेंस पड़ी-पड़ी धूल खा रही हैं.

जब बात ड्राइवरों की कमी की की गई तो पप्पू यादव ने कुछ ही घंटों में दर्जनों एंबुलेंस ड्राइवर की व्यवस्था कर दी साथ ही उन्होंने कहा कि रुड़ी जी लिजीए ड्राइवर सेना तैयार है. एंबुलेंस कब और कहां जाने वाले हैं बताएं.पप्पू यादव ने कहा बिहार सरकार इन सभी चालक बंधुओं को नियमित नौकरी दे, ये हर परिस्थिति में एंबुलेंस चलाएंगे.पप्पू यादव ने सबसे यह निवेदन किया कि हम सेवा की राजनीति करते हैं जनहित में ऐसी राजनीति सब करें सबका स्वागत है.
ड्राइवरों की फौज के साथ पप्पू यादव ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया है यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

इस विडियो में एक बात और गौर करने वाली है यहां पप्पू यादव और उनके साथ उपस्थीत लोग जो की कोरोना से जंग की तैय्यारी कर रहे हैं लेकिन इनमें से अधिकांश लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं. Corona संक्रमितों की मदद के लिए पप्पू यादव और उनके सहयोगी हर संभव प्रयास कर रहे हैं ऐसे में इन लोगों को भी अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना चाहिए क्योंकि जान है तो जहान है.

बिहार में वेंटिलेटर की कमी पर भी मचा था बवाल

कई MEDIA रिपोर्ट्स में यह खुलासा हुआ था कि बिहार में वेंटिलेटर की कमी तो है लेकिन साथ ही जो उपलब्ध भी हैं उसमें से अधिकतर या तो काम नहीं कर रहे या फिर टेक्नीशियनों के अभाव में पड़े-पड़े धूल खा रहे थे.

इन खब़रों के सामने आने के बाद बिहार सरकार ने एक सर्कुलर जारी कर इन वेंटीलेटरों को सक्षम प्राइवेट अस्पतालों जिनके पास दक्ष टेक्नीशियन उपलब्ध हों,उन्हें 3 महीने के लिए ठेके पर दे दिया था. जिससे कि कोरोना संक्रमित लोगों की मदद हो सके.

मालूम हो कि कोविड-19 से बिहार की स्थिति दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है. बीते 24 घंटे में बिहार में 13 हजार से भी अधिक नए मामले आए हैं. वहीं 62 लोगों की मौत इस बीमारी से हो गई. महामारी के विकराल रूप को देखते हुए और विशेषज्ञों की सलाह को मानते हुए बिहार में 15 मई तक नीतीश सरकार द्वारा संपूर्ण LOCKDOWN का ऐलान पहले किया जा चुका है. लेकिन लॉकडाउन से इस समस्या को पूरी तरह से ठीक नहीं किया जा सकता क्योंकि लंबे लॉकडाउन से बिहार जैसे कम आय और सीमित संसाधन वाले राज्य को तगड़ा झटका लग सकता है.

कोरोना (corona) महामारी से भारत की स्थिति भी दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है. बीते 24 घंटे में भारत में कुल 4 लाख से भी अधिक मामले आए वहीं मौतों के आंकड़ों ने भी एक नई ऊंचाई छू ली है. कल एक दिन में 4 हजार से भी अधिक लोग corona महामारी के कारण काल के गाल में समा गए.

देश में कोरोना के आंकड़ों पर एक नज़र

  • कुल संक्रमीतों की संख्या: 2,18,86,726
  • अब तक कुल मौतों की संख्या: 2 लाख 38 हजार 266
  • बीते 24 घंटे में कुल नये मरीज: 4 लाख 1 हजार 343
  • बीते 24 घंटे में कुल मौतें: 4 हजार 192
  • बीते 24 घंटे में कोरोना को मात देने वाले: 3 लाख 19 हजर 614
  • कुल इलाजरत मरीजों की संख्या: 37 लाख 21 हजार 738

COVID-19 से हुयी मौत पर PM MODI के VARANASI से एक बेटी की गुहार कभी इनके पिता के पैर छूते थे प्रधानमंत्री

COVID-19: कोरोना से देश की हालत गंंभीर, अब VVIP भी इसकी ज़द में…भूलोक तो भूलोक देवलोक में भी इसकी चर्चा ???