Bihar Bhagalpur Women Body Cut into Pieces

Bihar Bhagalpur Women Body Cut into Pieces: बिहार भागलपुर महिला की निर्मम हत्या स्तन हाथ और कान को धारदार हथियार से काटा

Share

Bihar Bhagalpur Women Body Cut into Pieces: बिहार भागलपुर की नीलम देवी नामक महिला की क्रूरता पूर्ण हत्या हत्यारे शकील ने धारदार हथियार से स्तन हाथ और कान को काटा

बिहार के भागलपुर(Bhagalpur Women Murder Case) से एक बेहद ही भयावह घटना सामने आई है. जिसमें भागलपुर पीरपैती(Pirpainti) की रहने वाली नीलम देवी(Nilam Devi) की हत्या शकील नामक व्यक्ति ने अपने भाई के साथ मिलकर कर दी.

यह कोई सामान्य हत्या नहीं है बल्कि इस हत्या में हत्या के आरोपी शकील ने क्रूरता की सारी हदें पार कर दी. शकील ने सबसे पहले महिला को धक्का दिया उसके बाद उसने एक-एक कर महिला के शरीर के अंग(Women’s Body Parts) काटने शुरू कर दिए. उसने महिला के स्तन को धारदार हथियार से काटा फिर उसने महिला के हाथ काटे फिर उसने महिला के कान भी काट दिए. शकील महिला के पैर भी काटना चाहता था लेकिन तभी उसे ऐसा लगा कि वहां कोई आ रहा है और वह वहां से फरार(Escape) हो गया.

इस हत्या के पीछे(Murder Mystery) अभी तक पुलिस(Police) के अनुसार जो वजह सामने आई है वह है आपसी लेन-देन का मामला. पुलिस ने बतलाया है कि महिला ने शकील से कुछ रुपए उधार लिए थे जिसको लेकर आए दिन शकील से कहासुनी होती थी और यह बात इतनी बढ़ गई कि शकील ने महिला की निर्मम हत्या कर दी.

इस सबके परे एक बात और सामने आई है वह यह है कि यह मामला पैसे का लेनदेन का नहीं है बल्कि यह मामला शकील के चरित्र से जुड़ा हुआ है. जिस महिला नीलम की हत्या की गई है उसके पति अशोक ने इस मामले को लेकर कुछ अलग ही बात कही है.

अशोक ने कहा है कि शकील उसी गांव का रहने वाला है जिस गांव में अशोक की किराने की दुकान है. अशोक का आरोप है कि शकील का चरित्र ठीक नहीं था. वह अक्सर नीलम के पास आकर बिना काम के ही बैठ जाता था. बताते चलें कि नीलम भी किराने की दुकान में अपने पति  अशोक का हाथ बटाती थी.

एक दिन नीलम ने शकील से कहा कि तुम्हारा चरित्र ठीक नहीं है और तुम मेरी दुकान पर मत आया करो और इस प्रकार बिना काम के मत बैठा करो. मृतका के पति अशोक के अनुसार इस घटना के बाद सचिन ने वहां आना जाना बंद कर दिया. लेकिन शकील को यह बात अच्छी नहीं लगी कि उसे कोई चरित्रहीन कहे और उसने इस बात को दिल पर ले लिया.

जिस समय इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया उस समय नीलम अपने बेटे के साथ साइकिल से बाजार से आ रही थी. मृतका के बेटे कुंदन ने मीडिया से बताया कि जब वह पीरपैंती बाजार से लौट रहा था तो वहीं सिंघिया पुल के नजदीक अपनी मां को साइकिल से उतारकर वह कुछ काम से  वहीं रुक गया और उसकी मां नीलम साइकिल से उतरकर पैदल ही घर जाने लगी.

ऐसा लगता है कि शकील को इस बात की खबर थी कि महिला आज बाजार जा रही है और वह इस मौके की ताक में था कि महिला को वह कब अकेली पाए और उस पर हमला करें. शकील ने जैसे देखा कि नीलम अकेली ही आ रही है तो उसने नीलम को दबोच लिया और अपने भाई  के साथ मिलकर उसकी निर्मम हत्या कर दी.

महिला के बेटे कुंदन ने यह भी बतालाया कि जब शकील इस हत्याकांड को अंजाम दे रहा था तो उसकी मां की चीख को सुनकर वहां से गुजरने वाले एक व्यक्ति ने यह जानना चाहा कि आखिर यह कौन चीख रहा है और वह आवाज की दिशा में गया. आहट को सुनकर शकील और उसका भाई वहां से फरार हो गया. अगर वह राहगीर नहीं आता तो शकील महिला के स्तन, कान और हाथ के साथ-साथ पैर को भी काटने वाला था.

इस हत्याकांड को लेकर पुलिस महकमे में काफी हलचल है. पुलिस नहीं चाहती है कि इस मामले को किसी प्रकार से गलत दिशा में जाने दिया जाए, जिससे आपसी भाईचारा  का माहौल खराब हो. क्योंकि भागलपुर वैसे भी इन सब मामलों में बहुत ही संवेदनशील है. ऐसा इसलिए भी क्योंकि इसमें दोनों पक्षों का अलग-अलग धर्मों से संबंध है. इसलिए इसे धार्मिक रंग ना दिया जाए जिसके लिए पुलिस मुस्तैद है और अतिरिक्त सर्तकता बरत रही है.

पुलिस ने इसलिए साफ-साफ कहा है कि यह पैसे के लेनदेन का मामला है और महिला की हत्या भी इसीलिए की गई है. अब देखना यह है कि इस मामले में बिहार पुलिस की आगे की क्या कार्रवाई होती है. वैसे इस घटना के बाद इलाके में तरह-तरह की बातें कही जा रही हैं और कुछ हद तक माहौल तनावपूर्ण भी है.

Scroll to Top