Nitish Kumar Attack Update

Nitish Kumar Attack Update: जिस युवक ने नीतीश कुमार पर किया हमला उसका चरित्र संदिग्ध ग्राउंड जीरो से जानिए उस युवक के बारे में सब कुछ

Nitish Kumar Attack Update: नीतीश कुमार पर हमला करने वाले युवक के बारे में हुआ बड़ा खुलासा, आर्केस्ट्रा में नई-नई लड़कियों को लाकर नचाने का था शौकीन, कर्ज में डूबा युवक पैसों के लिए कर सकता था कुछ भी ..

बीते 27 मार्च को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(Nitish Kumar) पर एक युवक द्वारा बख्तियारपुर में हमला किया गया था. हालांकि उस युवक के पास से किसी प्रकार का कोई भी हथियार बरामद नहीं हुआ है और पुलिस इस युवक को मानसिक रूप से अस्वस्थ बता रही है. लेकिन इस युवक के बारे में ग्राउंड जीरो से जो बातें बाहर निकल कर आई हैं वो बेहद ही चौंकाने वाली हैं.

सबसे पहले आते हैं इस युवक के परिचय पर, युवक का नाम शंकर कुमार वर्मा उर्फ छोटू वर्मा है. जिसकी उम्र 32 साल है. इसके पिता का नाम श्याम सुंदर वर्मा है और यह युवक अबू मोहम्मद पुर बख्तियारपुर का रहने वाला है.

वीडियो में देखिए हमले की पूरी घटना..

पुलिस के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि प्रथम दृष्टया युवक मानसिक रूप से बीमार नजर आता है. पुलिस के इस दावे की हवा तब निकल गई जब हमने ग्राउंड जीरो पर जा कर तफ्तीश की. शंकर वर्मा उर्फ छोटू के बारे में उसके पड़ोसियों ने जो जानकारी दी है उससे इस बात को बल मिलता है कि शंकर वर्मा उर्फ छोटू मानसिक रूप से बीमार नहीं हो सकता है जैसा कि पुलिस और उसके परिवार वालों द्वारा बार-बार बताया जा रहा है.

शंकर वर्मा उर्फ छोटू के पड़ोसियों के अनुसार शंकर का जुड़ाव आर्केस्ट्रा से है और अक्सर वह ऑर्केस्ट्रा का आयोजन करता रहता था. साथ ही वह एक सोने चांदी का दुकान भी खोलने वाला था. पड़ोसियों ने शंकर के चरित्र को लेकर भी कुछ अहम खुलासे किए हैं.

पड़ोसियों के अनुसार शंकर को आर्केस्ट्रा में नई-नई लड़कियों को लाने का और उन्हें नचाने का शौक था. शंकर अपना रौब जमाने के लिए बराबर नई- नई गाड़ियां  बदलता रहता था.

शंकर वर्मा उर्फ छोटू को अपना रोब आसपास वालों पर जमाने के लिए पैसों की जरूरत होती थी और इसके लिए वह कर्ज का सहारा लेता था. इस कारण उस पर बहुत ज्यादा कर्ज हो गया था. शंकर वर्मा उर्फ छोटू ने एक बार आत्महत्या करने का भी प्रयास किया था लेकिन आत्महत्या वाली बात से उसके पड़ोसी इत्तेफाक नहीं रखते.

शंकर के बारे में  यह भी पता चला है कि वह शादीशुदा है और 3 बच्चों का बाप है. शंकर वर्मा उर्फ छोटू ने  गुलजारबाग की एक लड़की से अंतरजातीय विवाह किया था. लेकिन अपने कुकृत्य में वह अपनी पत्नी को भी शामिल करना चाहता था. जिस कारण प्रताड़ना से तंग आकर उसकी पत्नी ने उसे छोड़ दिया और अपने मायके चली गई.

कुल मिलाकर कहें तो शंकर वर्मा उर्फ छोटू के चरित्र का कथित रूप से यही लुब्बे लुबाब है कि शंकर वर्मा उर्फ छोटू मानसिक रूप से स्वस्थ है और अपनी अय्याशी के लिए पूरे इलाके में बदनाम है. साथ ही पैसों के लिए तो कुछ भी कर सकता है.

शंकर से जुड़ी यह जानकारियां पड़ोसियों के द्वारा दी गई जानकारी पर आधारित है. जिसे तब तक पूर्ण रूप से सत्य नहीं माना जा सकता जब तक कि पुलिस की जांच पूरी नहीं हो जाती. लेकिन चूकी यह प्रदेश के मुख्यमंत्री की सुरक्षा से से जुड़ा मामला है, इस कारण पुलिस भी फूंक-फूंक कर कदम रख रही है.

इस घटना के बाद पुलिस की भूमिका पर भी संदेह जताया जा रहा है. क्योंकि मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगे हुए सुरक्षाकर्मियों की विशेष ट्रेनिंग होती है. उनकी सुरक्षा तीन से चार स्तरीय  होती है. दूसरी तरफ इस घटना के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ भी हो रही है. जिसमें यह कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री ने अपने ऊपर हमला करने वाले की जान को बचाकर बड़प्पन का परिचय दिया है.