FIR On Bhupesh Baghel

FIR On Bhupesh Baghel Noida Police: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पर नोएडा पुलिस ने की FIR दर्ज

FIR On Bhupesh Baghel Noida Police छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर नोएडा पुलिस ने किया FIR दर्ज, corona नियमों का उल्लंघन कर कांग्रेस का प्रचार करना पड़ा महंगा

भूपेश बघेल पर आरोप है कि उन्होंने corona नियमों की अनदेखी की और नोएडा में कांग्रेस प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक के लिए प्रचार कार्यक्रम का हिस्सा बने.

देखिए प्रचार का फोटो 

FJPEP7daQAcOnDz

आज भूपेश बघेल डोर टू डोर कैंपेन कर रहे थे लेकिन इस कैंपेन के दौरान जो फोटो प्राप्त हुई हैं उसमें भूपेश बघेल के साथ काफी संख्या में लोगों को देखा जा सकता है.

FJPEN5WacAIWMIN

FJPExwBaUAENZfv

मालूम हो कि यूपी सहित पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं जिसकी शुरुआत 10 फरवरी से हो रही है.

इस बार चुनाव आयोग ने चुनाव को 7 चरणों में कराने का फैसला लिया है जिसमें यूपी में चुनाव सात चरण में होंगे जबकि मणिपुर में दो चरण में और पंजाब गोवा और उत्तराखंड में एक चरण में चुनाव संपन्न कराए जाएंगे.

Corona के बढ़ते मामलों को देखते हुए चुनाव आयोग इस बार काफी सख्त है और आयोग ने corona नियमों को सख्ती से पालन करने के लिए काफी बृहद गाइडलाइन पहले ही जारी कर दी है.

चुनाव आयोग ने पहले तो 15 जनवरी तक किसी भी प्रकार की रैली या पदयात्रा करने पर प्रतिबंध लगाया था लेकिन पुनः संशोधन करते हुए इसकी तिथि आगे बढ़ा दी और अब 22 जनवरी तक किसी भी प्रकार की रैली या पद यात्रा की अनुमति नहीं दी गई है.

चुनाव आयोग के फैसलों से ऐसा लग रहा है कि अब इस बार का चुनाव प्रचार मुख्य रूप से डिजिटल माध्यम से ही किया जाएगा. वैसे चुनाव आयोग ने इनडोर बैठकों की अनुमति दे दी है लेकिन साथ ही यह हिदायत भी दी है कि इंडोर बैठकों के लिए 300 लोग या फिर हॉल की कैप सिटी के 50% की अनुमति दी गई है.

अभी हाल में ही समाजवादी पार्टी पर भी corona गाइडलाइन के उल्लंघन के संबंध मैं मामला दर्ज कराया गया था.

बात यह थी कि जब बीजेपी के बागी स्वामी प्रसाद मौर्य सपा में शामिल होने जा रहे थे तो उस समय काफी संख्या में लोगों की भीड़ सपा कार्यालय के बाहर उपस्थित थी.

जिसके बाद डीएम ने इसका  संज्ञान लिया और मामला दर्ज करने का आदेश दिया.गौर तलब है इन दोनो ही मामलोंंमें  अब मामला कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन के साथ साथ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन से भी जुडा है.