no election rallies

No Election Rallies No road Show: चुनाव आयोग(ECI) ने 22 जनवरी तक चुनावी रैलियों और रोड शो पर लगाई रोक

No Election Rallies No road Show: UP सहित पांच राज्यों के चुनावों को लेकर चुनाव आयोग(ECI) का बड़ा फैसला, 22 जनवरी तक रोड शो और रैलियों पर लगाई रोक

Corona के बढ़ते मामलों को देखते हुए चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो से संबंधित नियमों को और सख्त कर दिया है. पहले जहां रोड शो और रैली के लिए 15 जनवरी तक मनाही थी अब उसे बढ़ाकर 22 जनवरी कर दिया गया है.

मालूम हो कि UP सहित पांच राज्यों में 7 फरवरी से विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं जिसको लेकर अब इन चुनावी राज्यों में आचार संहिता लागू है.

आचार संहिता लागू होने के कारण अब पॉलिटिकल पार्टियों को चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित नियमों का पूर्ण रूप से पालन करना होगा.

चुनाव आयोग ने पॉलिटिकल पार्टियों को चुनाव प्रचार के लिए कुछ राहत भी दी है. चुनाव आयोग के अनुसार बंद जगहों पर 300 आदमियों या फिर 50% कैप सिटी के साथ चुनावी सभाओं का आयोजन किया जा सकता है.

ऐसा फैसला चुनाव आयोग ने फिजिकल रैली और रोड शो पर प्रतिबंध लगाने के बाद किया है. मालूम हो कि चुनाव आयोग ने पहले ही कह दिया था कि इस बार का चुनाव ज्यादा से ज्यादा डिजिटल माध्यम पर आधारित होगा.

चुनाव आयोग ने इस बार चुनाव के घंटों में भी वृद्धि की है. अब चुनाव नियत समय से 1 घंटे ज्यादा तक होगा.

वहीं पॉलिटिकल पार्टियों को दूरदर्शन पर अपनी बात रखने के लिए जो समय का आवंटन होता है उसमें भी 1 घंटे की वृद्धि कर दी गई है.

वहीं बीते दिनों corona प्रोटोकॉल का उल्लंघन और चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित मापदंडों का उल्लंघन करने के आरोप में समाजवादी पार्टी पर केस दर्ज कराया गया है.

मालूम हो कि स्वामी प्रसाद मौर्य और अन्य नेताओं के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के अवसर पर समाजवादी पार्टी के ऑफिस में बड़ी भीड़ जमा हो गई थी. जिसके बाद डीएम के आदेश पर FIR दर्ज करवाई गई.

BJP ने आज  107 विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट की जारी: बीजेपी ने आज  107 विधानसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है. सबसे अहम खबर यह है कि योगी आदित्यनाथ के चुनाव लड़ने को लेकर अब मामला साफ हो गया है.

जहां अटकलें लग रही थी कि योगी आदित्यनाथ मथुरा या अयोध्या से चुनाव लड़ सकते हैं लेकिन आज उम्मीदवारों की जब लिस्ट जारी की गई तो उसमें योगी नाथ आदित्यनाथ को गोरखपुर सीट आवंटित किया गया है.

कुछ लोगों का कहना है कि अयोध्या से योगी आदित्यनाथ का जीतना मुश्किल हो सकता था जबकि गोरखपुर योगी आदित्यनाथ के लिए सुरक्षित और सुविधाजनक सीट है.