TMC BAIL HC

NARDA मामले में TMC नेताओं को HC से सशर्त जमानत प्रेस कॉन्फ्रेंस पर पाबंदी वहीं MAMTA फिर PM मोदी से नाराज

TMC के तीन वर्तमान नेताओं के साथ एक पूर्व नेता कोNARDA SCAM मामले में हाई कोर्ट से बड़ी राहत

टीएमसी नेताओं को नारदा स्टिंग केस में गिरफ्तारी के बाद एक बड़ी राहत मिली है.

कलकत्ता हाईकोर्ट ने आज तीन वर्तमान तथा एक पूर्व टीएमसी नेता को सशर्त जमानत दे दी है.

मालूम हो कि नारदा स्कैम में इन चारों नेताओं को 17 मई को CBI द्वारा गिरफ्तार किया गया था.

गिरफ्तारी के बाद इन चारों को सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया. जहां सीबीआई कोर्ट से इन्हें जमानत मिल गई थी.

लेकिन हाईकोर्ट ने इनकी जमानत पर रोक लगा दी थी और इन्हें अपने ही घर में नजरबंद रहने का आदेश दिया था.

टीएमसी के लिए यह एक अंतरिम राहत है. क्योंकि मामला इतना साफ है कि इसमें कोई शक की गुंजाइश नहीं है कि अगर सुनवाई नियमित हुई तो इन चारों नेताओं को सजा होने की संभावना है.

लेकिन इन चारों नेताओं के साथ-साथ नारदा स्कैम में दो और नेता शामिल हैं. जो कि अभी वर्तमान में टीएमसी छोड़ बीजेपी में है.

इसमें मुकुल रोहतगी और बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी के नाम शामिल हैं.

उल्लेखनीय है कि गिरफ्तार नेताओं में दो नेता वर्तमान सरकार में मंत्री के पद पर हैं. इन नेताओं को जमानत के लिए दो लाख का पर्सनल बांड भरना होगा.

हाई कोर्ट ने जमानत की शर्तों में यह साफ कहा है कि इस मामले से संबंधित कोई भी बातचीत प्रेस या मीडिया मैं नहीं करनी होगी.

MMATA BANERJEE और केंद्र के बीच फिर से तकरार PM मोदी की मीटिंग में शुभेंदु अधिकारी को भी शामिल करने पर ममता नाराज

ममता बनर्जी और केंद्र सरकार में फिर से एक बार तनातनी का माहौल पैदा हो गया है.

बंगाल में आए चक्रवात यास से हुए नुकसान का जायजा लेने प्रधानमंत्री बंगाल जा रहे हैं.

जहां की वो बंगाल के राज्यपाल के साथ-साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी से मिलने वाले थे.

मीटिंग में शुभेंदु अधिकारी के नाम को शामिल करने को लेकर ममता बनर्जी ने विरोध जताया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ममता बनर्जी प्रधानमंत्री को रिपोर्ट सौंपने तो जाएंगी लेकिन मीटिंग में शामिल नहीं होंगी.