The Bharat Bandhu

Tejashwi Yadav पर FIR दर्ज़ करने का Court का आदेश और NEET EXAM फर्जीवाड़ा को लेकर बिहार में यूपी पुलिस की दबिश

Tejashwi Yadav पर टिकट देने के नाम पर भारी भरकम पैसे ऐंठने के आरोप, कोर्ट ने FIR करने का दिया आदेश, NEET EXAM में हुए फर्जीवाड़े को लेकर UP POLICE बिहार में लगातार कर रही है छापेमारी. बिहार और यूपी से जुड़ी खबरों पर एक नजर..

Tejashwi Yadav समेत कई अन्य आरजेडी नेताओं पर टिकट देने के नाम पर पैसे लेने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. तेजस्वी यादव, मिसा भारती, बिहार कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा समेत छह लोगों पर यह आरोप है कि लोकसभा चुनाव के दौरान इन लोगों ने कांग्रेस नेता संजीव कुमार से भागलपुर सीट से टिकट देने के लिए 5 करोड़ की धनराशि मांगी थी.

संजीव कुमार के आरोपों के अनुसार उन्होंने यह राशि इन लोगों को दे भी दी थी. 5 करोड़ की राशि मिलने के बाद भी संजीव कुमार को भागलपुर लोकसभा सीट से टिकट नहीं दिया गया. टिकट नहीं मिलने पर इन्हें आश्वासन दिया गया कि विधानसभा चुनाव में इन के नाम पर जरूर विचार किया जाएगा.

लेकिन विधानसभा चुनाव में भी संजीव कुमार को प्रत्याशी नहीं बनाया गया. मालूम हो कि संजीव कुमार कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता हैं. इन आरोपों के बाद तेजस्वी यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. वहीं समाचार लिखे जाने तक तेजस्वी यादव या अन्य किसी जिन पर पांच करोड़ रुपए लेने के आरोप लगाए गए हैं, FIR नहीं हुई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पुलिस का कहना है कि अभी कोर्ट से हमें आदेश प्राप्त नहीं हुआ है. तेजस्वी यादव और उनकी पार्टी के लोगों पर यह आरोप उस समय लगे हैं जब बिहार में तेजस्वी और नीतीश कुमार के बीच नजदीकियों के चर्चे जोरों पर हैं.

ऐसा इसलिए क्योंकि जातिगत जनगणना को लेकर तेजस्वी और नीतीश कुमार के सुर एक हैं, और साथ ही हाल के दिनों में तेजस्वी  के साथ-साथ RJD  के अन्य नेतागण भी नीतीश कुमार पर  तीखे प्रहारों से बचते नज़र आ रहे हैं. वैसे भी राजनीति में हमेशा संभावनाएं बनी रहती हैं.

NEET EXAM  में धांधली मामले में UP POLICE बिहार में लगातार कर रही है छापेमारी

13 सितंबर को संपन्न हुए Medical मेडिकल परीक्षा में हुई धांधली को लेकर UP POLICE बिहार में बिहार पुलिस के सहयोग से लगातार छापेमारी कर रही है.

सॉल्वर गैंग के तार बिहार से जुड़े होने की खबर है. बिहार से एक लड़की जो कि डेंटल की छात्रा है उसे और उसकी मां को गिरफ्तार किया गया है ऐसे आरोप हैं कि यह लड़की पैसे लेकर दूसरे छात्रों के स्थान पर NEET परीक्षा में सम्मिलित होती थी. इस सॉल्वर गैंग का मास्टरमाइंड PK को बताया जा रहा है.इस लड़की को पटना से गिरफ्तार किया गया है, गिरफ्तार की गई लड़की बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी(BHU) में MEDICAL की पढ़ाई कर रही है.

सॉल्वर गैंग और इस गैंग का मुख्य आरोपी पीके मेडिकल परीक्षा के टॉपर्स पर नजर रखते थे और मौका मिलते ही प्रलोभन का जाल  फेंक कर इन्हें फंसा लेते थे.

अगर टॉपर्स इनके झांसे में नहीं आते थे तो यह गैंग टॉपर्स के परिवार वालों से संपर्क स्थापित कर उन्हें झांसे में लेने की कोशिश करते थे. इस काम के लिए टॉपर्स को 5 लाख से भी ज्यादा की रकम दी जाती थी, ऐसा मीडिया रिपोर्ट्स में खुलासा हुआ है.

इस बार NEET के साथ-साथ JEE MAINS की परीक्षा में भी जमकर धांधली हुई है. इन घटनाओं को लेकर छात्रों में काफ़ी गुस्सा है. ये घटनाएं लगभग दो दशक पूर्व रंजीत डॉन की याद ताजा कर रही हैं. मेडिकल परीक्षाओं में मोटी रकम लेकर सेटिंग के द्वारा छात्र छात्राओं को पास कराने के लिए उस जमाने में रंजीत डॉन की तूती बोलती थी.

 

BIHAR और UP  से जुड़ी खबरों के लिए सब्सक्राइब करें द भारत बंधु को. आप हमें गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो कर सकते हैं.

 

 

देश