Indigo At Ranchi Airport

Specially-abled Child Prevented From Boarding IndiGo At Ranchi Airport Video Viral: रांची हवाई अड्डे पर हृदय विदारक घटना, एक विशेष रूप से विकलांग बच्चे को हवाई यात्रा करने से रोका, माता-पिता हाथ जोड़कर करते रहे विनती लेकिन नहीं माने सिक्योरिटी स्टाफ

Specially-abled Child Prevented From Boarding IndiGo At Ranchi Airport Video Viral: रांची एयरपोर्ट से मन को झकझोर देने वाला वीडियो वायरल, एक विशेष रूप से विकलांग बच्चे को घंटों बिठाए रखा नहीं करने दी हवाई यात्रा, इंडिगो की प्लेन में ले जाना चाहते थे, मां-बाप हाथ जोड़ करते रहे बिनती, सुरक्षाकर्मी सुरक्षा कारणों का देते रहे हवाला

एक तरफ जहां सरकार विकलांग को दिव्यांग का दर्जा देती है तो वहीं दूसरी तरफ दिव्यांगों के साथ जो बर्ताव किए जाते हैं वह मानवीय दृष्टिकोण से किसी भी रूप में स्वीकार्य नहीं हैं ताजा मामला रांची एयरपोर्ट(Ranchi Airport) का है.

रांची एयरपोर्ट पर एक विशेष रुप से विकलांग बच्चा(Specially- abled Child) जोकि इंडिगो की फ्लाइट(IndiGo Flight) में सफर करना चाहता था. उसके मां-बाप एयरपोर्ट पर कर्मचारियों से बार-बार विनती करते रहे कि उनके बच्चे को फ्लाइट में सफर करने दिया जाए लेकिन इंडिगो के कर्मचारियों(Indigo Staff) ने बार-बार सुरक्षा कारणों(Security Reasons) का हवाला देते हुए उनकी एक न सुनी.

एक व्यक्ति जो कि इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो बना रहा था उसे वीडियो बनाने से भी रोका जा रहा था लेकिन उस आदमी ने  वीडियो को बनाया भी और यह वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल (Viral Video) भी हो गया. वीडियो बनाने वाला आदमी सुरक्षाकर्मियों से बस यही पूछ रहा था कि आखिर यह कहां लिखा है कि कोई विशेष रूप से विकलांग बच्चा प्लेन में सफर नहीं कर सकता है.

देखिए वो वीडियो जिसे पत्रकार संजय झा ने पोस्ट किया है..

जो सुरक्षाकर्मी बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोक रहे थे उनका कहना था कि बच्चा अगर रोता है तो वहां परेशानी हो सकती है साथ ही उसे सांस लेने में भी तकलीफ हो सकती है. जबकि मां-बाप का कहना था कि बच्चा 3 घंटे से बैठा है देखिए ऐसी कोई समस्या नहीं होगी.

इस वीडियो को पत्रकार संजय झा ने अपने ट्विटर एकाउंट से पोस्ट किया है. वीडियो पोस्ट होने के तुरंत बाद ही यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो पर लोगों की जो प्रतिक्रिया रही है उसमें अधिकांश लोग इंडिगो के कर्मचारियों(IndiGo Staff) की शिकायत कर रहे हैं तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि इंडिगो के कर्मचारियों द्वारा बच्चे को  रोका जाना जरूरी था क्योंकि अगर प्लेन उड़ती है और उसके बाद कोई समस्या बच्चे को आती है तो इससे परेशानी हो सकती थी.