Shot Perfume Controversy

Shot Perfume Controversy: भारत सरकार ने Shot Perfume के विवादित विज्ञापन को हटाने के दिए आदेश, महिला आयोग ने कहा बलात्कार को बढ़ावा देने वाले विज्ञापनों के लिए बने सख्त़ नियम

Shot Perfume Controversy: भारत सरकार ने Short Perfume के विवादित विज्ञापन को लेकर उठाया बड़ा कदम, महिला आयोग ने कहा दर्ज की जाए FIR..

Shot Perfume के विवादित विज्ञापन को लेकर सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए इस पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दिया है और सोशल मीडिया जैसे यूट्यूब फेसबुक और ट्विटर को इस विज्ञापन को हटाने के आदेश भी दे दिए हैं.

Shot Perfume(Deodorant) के विज्ञापन में चार लड़के एक लड़की का पीछा करते हैं और आपस में कुछ बात करते हैं लड़कों के हाव-भाव और संवाद से ऐसा लगता है जैसे वे लड़की के बारे में ही बात कर रहे हैं लेकिन वे लड़के लड़की के बारे में नहीं बल्कि परफ्यूम के बारे में बात कर रहे होते हैं.

ऐसे विज्ञापन अक्सर द्वी अर्थी होते हैं और कंपनियां जानबूझकर ऐसे हथ कंडो का सहारा लेती हैं जिससे उनके उत्पाद बाजार में छा जाएं लेकिन इस प्रकार की हरकतों से एक अलग प्रकार की संस्कृति को बढ़ावा मिलता है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने तो Shot Perfume के विज्ञापन को लेकर बेहद ही सख्त़ रुख अख्तियार कर लिया है. उन्होंने कंपनी के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करने की मांग तक कर दी है. अब देखना यह है कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय  कंपनी पर क्या एक्शन लेता है.

आज बात सिर्फ एक विज्ञापन की नहीं है बल्कि ऐसे कई विज्ञापन भरे पड़े हैं जिसमें अश्लीलता की सारी हदें पार कर दी जाती हैं. जिस प्रकार के विज्ञापन को लेकर विरोध किया जा रहा है वैसे विज्ञापन पहले भी दिखाए जा चुके हैं लेकिन फर्क सिर्फ इतना है कि वहां पर एक लड़का परफ्यूम लगाता है और वो जहां से भी गुजरता है लड़कियां खींची चली आती हैं. आखिर ऐसा क्यों होता है कि हम जब कोई विरोध दर्ज कराते हैं तो वह विरोध जेंडर पर आधारित हो जाता है. अगर कोई बात गलत  है तो वह दोनों ही पक्षों के लिए गलत होगा ना किसी एक पक्ष के लिए.

अगर टीवी पर और अन्य जगह दिखाए जाने वाले विज्ञापनों की बात करें तो सबसे फूहड़ और बेहूदा विज्ञापन कंडोम के बनाए जाते हैं. जिस में अश्लीलता की सारी हदें पार कर दी जाती है और ऐसे विज्ञापन को ऐसा नहीं है कि एक खास समय में दिखाया जाता है.जब ऐसे विज्ञापन आते हैं तो परिवार के बडे सदस्य अक्सर या तो चैनल बदल देते हैं या फिर वहां से उठ कर चले जाते हैं.