Satyapal Malik

सत्यपाल मलिक(Satyapal Malik) के सत्य से PM Modi और BJP की मुश्किलें बढ़ी

सत्यपाल मलिक( Satyapal Malik) के PM Modi “घमंडी” हैं वाले बयान से UP Election में बढ़ सकती है BJP की मुश्किलें, जानिए क्या है पूरा मामला Viral Video में सुनिए सत्यपाल मलिक ने क्या कहा

सत्यपाल मलिक जो वर्तमान में मेघालय के राज्यपाल हैं और इससे पहले जम्मू कश्मीर के राज्यपाल थे. उनके द्वारा पीएम मोदी को लेकर की गई टिप्पणी से सियासी पारा गरम हो गया है.

सत्यपाल मलिक ने कहा है कि जब वह किसानों के मुद्दे पर पीएम मोदी से मिलने पहुंचे और उन्होंने किसानों की मौत पर प्रधानमंत्री से बात करनी चाही तो पीएम मोदी का रवैया ठीक नहीं था.

सत्यपाल मलिक के अनुसार जब उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि 500 से अधिक किसान मर गए तो प्रधानमंत्री ने कहा कि वह मेरे कराण मरे हैं क्या!

सत्यपाल मलिक ने बताया कि पीएम मोदी के इस प्रकार के घमंड भरे जवाब को सुनकर उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि अगर एक कुत्तिया की मौत भी होती है तो आप पत्र व्यवहार करते हैं लेकिन किसानों की मौत पर कुछ क्यों नहीं करते.

बकौल सत्यपाल मलिक पीएम ने उनके इस बात का जवाब नहीं दिया और उन्हें देश के गृह मंत्री अमित शाह से मिलने के लिए कहा.

गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात को लेकर सतपाल मलिक ने जो कहा वह भी बेहद चौंकाने वाला और अप्रत्याशित है.

सत्यपाल मलिक ने गृह मंत्री से मुलाकात को लेकर कहा कि जब मैं गृह मंत्री अमित शाह से मिला और उनको इस वाकये से अवगत कराया तो अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी के अब जल्द ही  अक्ल ठिकाने आ जाएंगे.

सत्यपाल मलिक की इन बातों पर कितना भरोसा किया जाए यह तो सत्यपाल मलिक ही बता सकते हैं क्योंकि अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी के बीच दांत कटी रोटी का रिश्ता है यह सब जानते हैं.

सत्यपाल मलिक के बयान को लेकर पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल से उनका एक वीडियो शेयर किया है जो कि काफी वायरल हो रहा है देखिए सत्यपाल मलिक ने पीएम मोदी और अमित शाह को लेकर क्या बयान दिया है

 

वहीं लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर SIT ने आज 5000 पन्नों की रिपोर्ट कोर्ट को सौंप दी है इसमें मोदी सरकार में गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा मोनू का नाम मुख्य रूप से शामिल है.

मालूम हो कि लखीमपुर खीरी में मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा पर या आरोप है कि उन्होंने आंदोलन करते हुए किसानों पर अपनी गाड़ी चढ़ा दी थी जिससे कि 4 किसानों की मौत हो गई थी.