Omicron first case in Delhi

Omicron Case in India:ओमिक्रॉन का डर या लोग हो रहे हैं जागरूक Vaccination का आंकड़ा 127 करोड़ पहुंचा

 

Omicron Case In India : Covid-19 के नए वैरीएंट ओमिक्रॉन (Omicron) का खतरा भारत में भी अब बढ़ने लगा है. इसे ओमिक्रॉन का डर कहेंगे या फिर लोगों की जागरूकता लेकिन भारत में Vaccination का आंकड़ा 127 करोड़ पहुंच गया है.

Omicron Case In India:जागरूकता और डर का आलम यह है कि भारत में बीते शनिवार मात्र एक दिन  में एक करोड़ से भी ज्यादा लोगों को Covid-19 Vaccine की डोज दी गई.

ऐसा पहली बार  नहीं हुआ है जब लोगों को मात्र एक दिन में एक करोड़ से अधिक वैक्सीन का डोज दिया गया हो.

इससे पहले भी ऐसा 5 बार ऐसा हो चुका है लेकिन ऐसा तभी हुआ जब सरकार ने कुछ ना कुछ निर्देश दिए थे या फिर कोई न कोई खास अवसर रहा था.

नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) के जन्मदिन पर भी एक करोड़ से अधिक corona वैक्सीन के डोज लगे थे. लेकिन उस समय बहुत सारे मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसी बातें आई थी कि कुछ जगहों पर कुछ लोगों को बिना वैक्सीन लिए भी वैक्सीनेटेड होने का मैसेज आ रहा था.

लेकिन ऐसे मामलों पर सरकार ने  तकनीकी खामी बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया था. लेकिन ऐसे बहुत से मामले रिपोर्ट किए गए थे. जिस पर की बाद में जांच की बात भी कही गई थी.

Covid-19 Vaccine को लेकर “हर घर दस्तक अभियान” से बढ़ रहा टीकाकरण(Vaccination) का दायरा

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया का कहना है कि वैक्सीन का दायरा बढ़ता जा रहा है और हर घर दस्तक अभियान के कारण हमें वैक्सीनेशन बढ़ाने में सफलता मिल रही है.

 

मालूम हो कि भारत में अभी तक 80 करोड़ लोगों ने अपना पहला डोज और 47 करोड़ लोगों ने अपने दोनो डोज ले लिए हैं. सबसे अधिक वैक्सीनेशन के मामले में UP, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, MP, बिहार टॉप पर हैं। भारत में वैक्सीनेशन की शुरुआत  16 जनवरी 2021 को हुई थी। अब लगभग सवा महीने बाद भारत में टीकाकरण अभियान के एक साल पूरे हो जाएंगे.

Omicron Case in India:ओमिक्रॉन ने भारत में अपना पैर पसारना शुरू कर दिया है, भारत में ओमिक्रॉन का चौथा मामला मिला

Covid-19 के नए वैरिएंटओमिक्रॉन(Omicron) से  संक्रमित जिस चौथे व्यक्ति की पहचान हुई है वह दक्षिण अफ्रीका से भारत आया था. मालूम हो कि दक्षिण अफ्रीका से आने के बाद वह दिल्ली से फ्लाइट के द्वारा मुंबई पहुंचा था. जहां पर उसकी जांच की गई और वो  ओमिक्रॉन से संक्रमित पाया गया.

यह व्यक्ति मुंबई का रहने वाला है .उसके संपर्क में आए लोगों की पहचान हो गई है और संपर्क में आए लोगों के नमूने भी ले लिए गए हैं. लेकिन किसी भी नमूने में ओमिक्रॉन की पुष्टि नहीं हुई है सारे सैंपल नेगेटिव मिले हैं.

मालूम हो कि भारत सरकार ने corona के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर सख्ती बरतनी शुरू कर दी है. अब बाहर से आने वाले लोगों खासकर वैसे लोग जो की ओमिक्रॉन  से प्रभावित देशों से आ रहे हैं उन पर खास नजर रखी जा रही है.

ओमिक्रॉन से संक्रमित भारत में सबसे पहले दो व्यक्तियों की पह्चान कर्नाटक में हुई थी. जिसके बाद भारत सरकार और राज्य सरकारों ने पूरे देश में सावधानी बरतनी शुरु कर दी. एक राहत वाली बात यह है कि अभी तक जो भी मामले सामने आये हैं उन सभी में कोई गंंभीर लक्षण देखने को नहीं मिला है.

गंभीर लक्षण नहीं मिलने पर भी सावधानी आवश्यक है. ऐसा इसलिये क्योंकि डेल्टा वैरिएंट के मामले भी भारत में आक्टूबर में आने शुरु हुए थे लेकिन इसने भी अप्रैल से कोहराम मचाना शुरु किया था और ऐसा कहा जा रहा है कि ओमिक्रॉन कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से भी खतरनाक हो सकता है.

इसकी R- Value के बारे में ऐसा दावा किया जा रहा है कि ये डेल्टा वैरिएंट से 5 से 6 गुणा ज्यादा हो सकती है. लेकिन अभी ये सभी अनुमान मात्र हैं. अभी तक कुछ भी प्र्माणिक तौर पर नहीं कहा गया है.