NIA Raid

NIA Raid On People Close to Dawood Ibrahim In Mumbai: मुंबई ब्लास्ट का मास्टरमाइंड दाऊद के करीबी लोगों के ठिकानों पर NIA का छापा, महाराष्ट्र में सियासी हलचल तेज

NIA Raid On People Close to Dawood Ibrahim In Mumbai: दाऊद इब्राहिम के करीबियों पर NIA का शिकंजा, मुंबई में 20 जगहों पर छापेमारी, महाराष्ट्र में सियासी हलचल तेज, जेल में बंद महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, छोटा शकील का साला सलीम फ्रूट हिरासत में

मुंबई(Mumbai) से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. खबर यह है कि दाऊद इब्राहिम(Dawood Ibrahim) के नजदीकी लोगों पर एनआईए(NIA) ने एक कड़ी कार्रवाई की है. जिसके तहत आज एनआईए ने मुंबई में करीब 20 जगहों पर छापेमारी की.

यह छापेमारी दाऊद इब्राहिम और हसीना पारकर (Haseena Parker) जो कि दाऊद इब्राहिम की बहन है से जुड़े लोगों पर की गई है. जिसमें प्रमुख नाम शामिल हैं टाइगर मेनन इकबाल मिर्ची जावेद चिकना और छोटा शकील . मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रीय जांच एजेंसी(NIA) को कुछ ऐसे इनपुट्स मिले थे कि इन लोगों के द्वारा किसी बड़ी घटना को अंजाम दिया जा सकता है.

नाम का खुलासा तो अभी नहीं हुआ है लेकिन ऐसी जानकारी भी मिल रही है कि किसी बड़े नेता को ठिकाने लगाने की साजिश रची जा रही थी. लेकिन इस बात की पुष्टि द भारत बंधु नहीं करता. एनआईए ने आज की कार्यवाही को पूरी तरह से गोपनीय रखा था. यहां तक कि इस छापेमारी से जुड़े वीडियो और फोटो भी हासिल नहीं हो पाए थे.

एनआईए की कार्यवाही का दायरा बहुत बड़ा है आज एनआईए ने सांताक्रुज, बांद्रा, नागा पाड़ा, भिंडी बाजार, गोरेगांव, परेल, मुम्ब्रा, कोल्हापुर और बोरीवली इत्यादि जगहों पर छापेमारी की. एनआईए ने मुंबई में तस्करों  और हवाला से जुड़े लोगों तथा रीयल एस्टेट का कारोबार कर रहे कुछ लोगों पर भी दबिश बनाई है.

एनआईए(NIA) ने जेल में बंद छोटा शकील का साला सलीम फ्रूट(Saleem Fruit) को भी अपने हिरासत में लिया है. बताते चलें कि सलीम फ्रूट्स साल 2010 से ही जेल में बंद है.मालूम हो कि बीते फरवरी माह में ही होम मिनिस्ट्री(HM) के निर्देश पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी(NIA) ने दाऊद इब्राहिम(Dawood Ibrahim) और उससे जुड़े लोगों को खिलाफ अवैध वसूली(Extorsion) का मामला दर्ज किया था और आज की छापेमारी की कार्यवाही भी इसी से जुड़ी है.

इस छापेमारी के बाद महाराष्ट्र में सियासी हलचल भी तेज हो गई है. इसके पीछे मुख्य वजह है महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे कद्दावर नेता नवाब मलिक(Nawab Malik) का नाम का इस मामले से जुड़ना. मालूम हो कि नवाब मलिक पर यह आरोप है कि उन्होंने दाऊद की बहन हसीना पारकर से जमीन की खरीदी की थी. नवाब मलिक अभी जेल में बंद हैं.

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो इस मामले में महाराष्ट्र सरकार के कई और मंत्रियों के नाम उजागर हो सकते हैं क्योंकि बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने महाराष्ट्र सरकार के कई मंत्रियों पर बेहद ही गंभीर आरोप लगाए थे.

बताते चलें कि जिस दाऊद इब्राहिम और उसकी डी कंपनी(D- Company) को लेकर NIA कार्यवाही कर रही है उस दाऊद इब्राहिम पर 25 मिलियन डॉलर का इनाम है. दाऊद इब्राहिम को भारत सरकार तथा यूनाइटेड नेशन ने भी आतंकवादी घोषित किया है.

दाऊद इब्राहिम(Dawood Ibrahim) 1993 तक भारत में ही रहता था लेकिन मुंबई बम ब्लास्ट में उसका नाम आने के बाद उसने मुंबई छोड़ दिया था. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि दाऊद इब्राहिम अभी भी पाकिस्तान में ही छुपा हुआ है. भारत सरकार ने कई बार दाऊद इब्राहिम को भारत लाने की कोशिश की है लेकिन हर बार नाकामी हासिल हुई है.