Navjot Singh sidhu

नवजोत सिंह सिद्धू(Navjot Singh Sidhu) के बयान से मचा बवाल करतारपुर( Kartarpur) में इमरान खान(Imran Khan) को कहा ‘बड़े भाई’

नवजोत सिंह सिद्धू( Navjot Singh Sidhu) अक्सर अपने बयानो के कारण चर्चा में बने रहते हैं. आज Kartarpur Corridor होते हुए करतारपुर(Kartarpur) पहुंचकर उन्होंने  इमरान खान(Imran Khan) को अपना बड़ा भाई बताया. जिसके बाद विपक्ष ने उन्हें निशाने पर ले लिया.

कांग्रेस नेता और पंजाब के वर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अक्सर अपने बयान बाजी से विवादों में आ जाते हैं. आज ताजा विवाद उनके करतारपुर में दिए गए बयान से संबंधित है.

मालूम हो कि नवजोत सिंह सिद्धू आज करतारपुर कॉरिडोर होते हुए पाकिस्तान के करतारपुर पहुंचे थे. जहां उनका भव्य स्वागत किया गया.

नवजोत सिंह सिद्धू स्वागत से इतने खुश हुए कि उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को अपना बड़ा भाई(Big Brother) बता दिया. मालूम हो कि नवजोत सिंह सिद्धू ने करतारपुर में प्रधानमंत्री मोदी की भी जम कर बड़ाई की है.

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर की सफलता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की अहम भूमिका है.

आज Social Media, print media और TV पर हर जगह सिद्धू के भाई जान वाले बयान की ही चर्चा जोरों पर है.

SAD नेता दलजीत सिंह चीमा ने नवजोत सिंह सिद्धू के बयान को बताया पब्लिसिटी स्टंट

वहीं इस बयान पर विवाद बढ़ने के बाद सिद्धू ने अपनी सफाई भी दे दी है. कांग्रेस नेता सिद्धू का कहना है कि लोग बात का बतंगड़ बना रहे हैं और बात का बतंगड़ बनाना बहुत ही आसान है. ऐसा कोई भी कर सकता है.

मालूम हो कि इस बयान के बाद BJP ने कांग्रेस और नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. इसके पीछे मुख्य वजह है साढे 3 महीने बाद पंजाब में होने वाला चुनाव.

बीजेपी ऐसा कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती जिसके द्वारा वह कांग्रेस को पंजाब में घेर सके. कृषि कानूनों को वापस  लेने के बाद बीजेपी पंजाब में अपने को मजबूत करने में लगी हुई है.

वहीं कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि सिद्धू एक स्पोर्ट्स पर्सन है और उसके नाते इमरान खान को वह अपना बड़ा भाई मानते हैं.

वैसे तो सिद्धू की बयानबाजी से बहुत ज्यादा फर्क नहीं पड़ने वाला क्योंकि सिद्धू अक्सर कांग्रेस पर भी हमलावर हो जाते हैं. सिद्धू के हठयोग के कारण ही कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटना पड़ा था.