India TV Live Show

India TV Live Show में राकेश टिकैत मंदिर-मस्जिद की तस्वीर दिखाने पर भड़के Video देखिए

India TV Live Show पर एक कार्यक्रम के दौरान किसान नेता राकेश टिकैत शो में दिखाई जा रही मंदिर मस्जिद की तस्वीर पर काफी नाराज हो गए, इसके बाद जमकर हंगामा हुआ

इंडिया टीवी(India TV) के लाइव डिबेट शो(Chunav Manch) पर किसान नेता राकेश टिकैत और शो के एंकर के बीच काफी तू तू मैं मैं हो गई.

इसके पीछे जो मूल कारण है वह है शो में दिखाई जा रही तस्वीरें. मालूम हो कि India TV के Live डिबेट शो में राकेश टिकैत को किसानों के मुद्दे पर बोलने के लिए बुलाया गया था लेकिन शो के पीछे स्क्रीन पर मंदिर मस्जिद की तस्वीरें दिखाई जा रही थी.

मंदिर मस्जिद की तस्वीरों को देखकर राकेश टिकैत भड़क गए और वह कहने लगे कि यह शो  किसानों पर है तो इसमें मंदिर मस्जिद की तस्वीरें क्यों दिखाई जा रही हैं. इस बीच शो के एंकर और राकेश टिकैत के बीच काफी कहासुनी हो गई.

देखें India TV Live का Video जिसमें राकेश टिकैत और शो के एंकर के बीच जम कर हंगामा हुआ..

 

शो के एंकर का कहना था कि हम अपने कार्यक्रम में क्या दिखाएं यह आप पर निर्भर नहीं करता वहीं राकेश टिकैत का कहना था कि आप लोग देश को सांप्रदायिकता की आग में झोंक रहे हैं.

जब मामला बेहद ही गंभीर हो गया तो इंडिया टीवी के लाइव डिबेट के एंकर ने राकेश टिकैत से कहा कि जो तस्वीरें दिखाई जा रही है उसे आप ना देखें बल्कि आप उसके ऊपर लिखे हुए शब्द को देखें जिसमें लिखा हुआ है किसानों का मुख्यमंत्री कौन.

राकेश टिकैत का बार-बार यही कहना था कि जब शो में किसान नेता को बुलाया गया है तो बात किसानों की होनी चाहिए बात MSP की होनी चाहिए, बात गन्ने की मूल्य की होनी चाहिए ना की मंदिर मस्जिद की.

मालूम हो कि 10 फरवरी को UP में पहले चरण के लिए मतदान होगा. जिसको लेकर UP में सियासी पारा बेहद गर्म हो गया है.

सभी पार्टियों के नेता डोर टू डोर कैंपेनिंग कर रहे हैं और अपनी पूरी ताकत पहले चरण के चुनाव के लिए झोंक दी है.

इस बार किसान आंदोलन के कारण BJP को खासकर पश्चिमी यूपी में सीटों के नुकसान होने की संभावना है. जिसको लेकर बीजेपी के सभी स्टार कैंपेनर  पश्चिमी यूपी पर खास ध्यान दे रहे हैं.

जयंत चौटाला के समाजवादी पार्टी के साथ आ जाने के बाद पश्चिमी  यूपी का चुनावी गणित उलझता जा रहा है. बीजेपी किसी भी कीमत पर यूपी की सत्ता बचाए रखना चाहती है तो वहीं समाजवादी पार्टी किसी भी कीमत पर दूसरी बार हार का सामना नहीं करना चाहती.

अब देखना यह है कि उत्तर प्रदेश में 10 मार्च को किसकी सरकार बनती है. मालूम हो कि यूपी सहित पांच राज्यों में सात चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं.