COVID19 1

IIT JODHPUR पर corona का साया अमेरिका से पीएचडी कर आईटी जोधपुर में असिस्टेंट प्रोफेसर वंदना शर्मा हार गई जिंदगी की जंग

 

IIT JODHPUR में corona का कोहराम असिस्टेंट प्रोफेसर वंदना शर्मा की मौत

Corona की दूसरी लहर युवाओं के लिए जानलेवा साबित हो रही है. जिन युवा वर्गों पर देश और समाज को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है आज वो corona के आगे घुटने टेकते हुए नज़र आ रहे हैं.

इसके पीछे जो सबसे बड़ी वजह है वो है ज्यादातर  मामलों में युवाओं को यह पता नहीं चलता है कि वो बीमार हैं और अचानक से उनमें corona के लक्षण दिखने लग जाते हैं.

देखते-देखते corona का संक्रमण इतना फैल जाता है कि उनका बच पाना मुश्किल हो जाता है.

आईआईटी जोधपुर में असिस्टेंट Professor के पद पर कार्यरत वंदना शर्मा बहुत ही खुश मिजाज और ऊर्जावान महिला थी. उन्होंने आईआईटी जोधपुर को अमेरिका की ह्यूस्टन यूनिवर्सिटी से पीएचडी करने के बाद 2019 में ज्वाइन किया था.

अभी उन्हें आईआईटी जोधपुर में आए ज्यादा वक्त नहीं हुआ था. लेकिन कहते हैं ना होनी को कौन टाल सकता है.

एक सप्ताह पहले उन्हें शारीरिक तकलीफ होने लगी थी. जिस कारण उन्हें जोधपुर के गोयल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

स्थिति बिगड़ने के कारण और बेहतर चिकित्सकीय लाभ के लिए उन्हें फिर जोधपुर एम्स में भर्ती कराया गया.

जोधपुर एम्स में भर्ती कराने के बाद भी उनकी स्थिति नहीं संभल पाई और आखिरकार उनका निधन हो गया.

आईआईटी जोधपुर पर corona का असर बड़े ही व्यापक पैमाने पर पड़ा है. अभी तक आईआईटी जोधपुर के लगभग 270 से भी अधिक अध्ययन अध्यापन से जुड़े लोग और कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं.

वहीं राजस्थान में corona महामारी पर लगाम लगता नहीं दिख रहा. फिलहाल संक्रमण में थोड़ी कमी आई है लेकिन इसके पीछे जो सबसे बड़ा मूल कारण है वो है लगभग 8 करोड़ की आबदी वाले राज्य में टेस्टिंग का कम होना.

बीते कुछ दिनों के राजस्थान के आंकड़ों को देखें तो यह पता लगता है कि टेस्टिंग घटा दी गई है.इस सप्ताह कभी 83 हजार टेस्ट हुये तो कभी मात्र 50 हजार.

टेस्टिंग घटा देने से नए संक्रमितों की संख्या पर असर पड़ा है लेकिन मौतों के आंकड़ों साथ ही वास्तविक संक्रमितओं की संख्या पर कोई ज्यादा असर नहीं पड़ा है.

राजस्थान के corona के आंकड़ों पर एक नज़र

  • पिछले 24 घंटों में कुल संक्रमितों की संख्या:10,290
  • पिछले 24 घंटों में कुल मौतें:149
  • पिछले 24 घंटों में कुल ठीक हुए मरीज:24,440
  • कुल संक्रमित लोगों की संख्या:8,59,669
  • कुल मौतों का आंकड़ा:6,777
  • कुल इलाजरत (active) मरीजों की संख्या:1,94,382

इस कारण सरकार को चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा  जांच कर संक्रमितों की पहचान की जाए और उनको समय रहते ही उचित चिकित्सा मुहैया कराई जाए.

एक नज़र देश के corona आंकड़ों पर भी

  • पिछले 24 घंटों में कुल संक्रमितों की संख्या: 2,81,683
  • पिछले 24 घंटों में कुल मौतें: 4,092
  • पिछले 24 घंटों में कुल ठीक हुए मरीज: 3,78,388
  • अभी तक कुल संक्रमित लोगों की संख्या: 2,49,64,925
  • कुल मौतों का आंकड़ा: 2,74,481
  • कुल इलाजरत (active) मरीजों की संख्या: 35,12,660
  • अभी तक कुल टेस्ट: 31,48,50,143
  • कुल टीकों की संख्या: 18,22,20,164

क्या आप जानते हैं इस पर सरकार ने क्या फैसला लिया है:

COVISHIELD की दूसरी खुराक को लेकर मीडिया रिपोर्ट्स में तरह-तरह की बातें की जा रही थी कि आखिर जिन लोगों ने पहले से बुकिंग करा ली है क्या उनको अपनी बुकिंग कैंसिल करानी पड़ेगी. क्या उन्हें भी 12 सप्ताह वाले नियम को लेकर चलना होगा और भी बहुत सारी बातें..