Hijab On playing Ground

Hijab On playing Ground: MP में लड़कियों ने हिजाब पहनकर खेल में लिया हिस्सा

Hijab On playing Ground: MP में मुस्लिम लड़कियों द्वारा विरोध का गांधीवादी तरीका लड़कियों ने हिजाब(Hijab) पहन खेला फुटबॉल और क्रिकेट

देश के दक्षिणी राज्य कर्नाटक में मुस्लिम लड़कियों के हिजाब(Hijab) पहनकर शैक्षणिक संस्थानों में जाने को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है.

हिजाब विवाद की आंच अब मध्य प्रदेश(MP) तक पहुंच चुकी है. बताते चलें कि मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने हिजाब पर प्रतिबंध लगाने वाला बयान दिया था.

शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के हिजाब बैन वाले बयान के बाद मामला राजनीतिक रूप लेने लगा था लेकिन अब इस मामले पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सफाई दी है और कहा है कि एमपी में हिजाब पर प्रतिबंध जैसी कोई बात नहीं है

शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के बायान के बाद आज MP में कई मुस्लिम छात्राओं ने हिजाब(Hijab) नहीं पहनने देने को लेकर अनूठा विरोध किया है. लड़कियों ने विरोध प्रदर्शन करने के लिए ना तो किसी बैनर पोस्टर और ना ही किसी नारे का सहारा लिया बल्कि उन्होंने अपने विरोध के लिए गांधीवादी तरीका अपनाया.

गांधीवादी विरोध का अर्थ: गांधीवादी विरोध का अर्थ  है संरचनात्मक विरोध, जिससे किसी प्रकार की ना तो हिंसा हो और ना ही किसी प्रकार की हिंसा की सूचना मिले.आज मध्यप्रदेश के कई स्कूलों की छात्राओं ने हिजाब पहनकर फुटबॉल और क्रिकेट खेल में हिस्सा लिया.

हिजाब(Hijab) कमजोरी की निशानी नहीं : हिजाब पहनकर फुटबॉल और क्रिकेट खेलती मुस्लिम लड़कियों का कहना है कि हिजाब कमजोरी की निशानी नहीं है बल्कि हम जमाने को दिखाना चाहते हैं कि हिजाब पहनकर भी सब कुछ किया जा सकता है.

वहीं  कर्नाटक में  से हिजाब संबंधित मामले को हाईकोर्ट ने बड़े बेंच को स्थानांतरित कर दिया है. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि यह मामला संवैधानिक पहलुओं से जुड़ा हुआ है जिसमें अनुच्छेद 25 के बारे में बात कही गई है.

अब देखना यह है कि हाई कोर्ट इस पर क्या फैसला सुनाता है वहीं कर्नाटका सरकार ने यह साफ कहा है कि जब तक हाई कोर्ट का फैसला नहीं आता है तब तक यूनिफॉर्म को लेकर बनाए गए नियमों को मानना पड़ेगा.