Aman Pandey

Google ने Bugs Mirror चलाने वाले Aman Pandey को यूं ही नहीं दिया 65 करोड़ का इनाम!!

Google ने Bugs Mirror चलाने वाले Aman Pandey को सुरक्षा खामियों को ढूंढने और रिपोर्ट करने के लिए दिया 65 करोड़ का इनाम

कोई नहीं जानता कब किस की किस्मत पलट जाए और वह सिर्फ अमीर ही ना बने बल्कि उसके नाम और काम को दुनिया भर में सराहा जाए.

ऐसी ही किस्मत पाई है मध्यप्रदेश के इंदौर से आने वाले अमन पांडे(Aman Pandey) ने. इसे किस्मत कहना शायद सही नहीं होगा क्योंकि अमन पांडे को Google की तरफ से 65 करोड़ इनाम यूं ही नहीं मिल गया.

अमन पांडे(Aman Pandey) ने गूगल के Top Researchers  में जगह बनाने के लिए और 65 करोड़ के इनाम को पाने के लिए कड़ी मेहनत की थी और उनके लगन और कड़ी मेहनत का ही नतीजा था कि गूगल ने उन्हें अपने टॉप रिसर्चर में जगह दी.

अमन पांडे(Aman Pndey) ने साल 2021 में एक नया स्टार्टअप सेटअप किया था जिसका नाम पर रखा था Bugs Mirror, इसके द्वारा अमन पांडे और उनके सहयोगी Google  Apple और अन्य कंपनियों को साइबर सुरक्षा संबंधी जानकारियां उपलब्ध कराते हैं.

अमन पांडे ने गूगल की सुरक्षा को लेकर 280 बग्स रिपोर्ट किए थे जिसे गूगल ने सही पाया और अमन पांडे को इसके लिए 65 करोड़ का इनाम दिया साथ ही गूगल ने अपनी रिपोर्ट में अमन पांडे को अपने टॉप रिसर्चस में जगह भी दी है.

गूगल की मानें तो अमन पांडे ने साल 2019 में गूगल को बग्स की रिपोर्ट दी थी जिसमें उन्होंने 232 बग्स का जिक्र किया था और अभी तक एंड्रॉइड वल्नरेबिलिटी रिवॉर्ड प्रोग्राम(VRP) के लिए अमन पांडे ने 280 से भी अधिक Bugs के बारे में रिपोर्ट किया है.

बताते चलें कि गूगल हर साल ऐसे प्रोग्राम लांच करता है जिसके तहत वह लोगों से कहता है कि वह बग रिपोर्ट करें और अगर यह रिपोर्ट सही पाई गई तो इसे भेजने वाले लोगों को गूगल इनाम में धनराशि देगा.