FIR On Bajrang Dal

FIR On Bajrang Dal And VHP In Delhi Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी हिंसा मामले में बजरंग दल(Bajrang Dal) और विश्व हिंदू परिषद(VHP) पर गिरी गाज दिल्ली पुलिस ने दर्ज की f.i.r.

FIR On Bajrang Dal And VHP In Delhi Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस द्वारा बजरंग दल(Bajrang Dal) और विश्व हिंदू परिषद(VHP) पर बड़ी कार्रवाई  FIR दर्ज, सदस्यों को लिया हिरासत में बिना इजाज़त निकाली थी यात्रा..

हनुमान जयंती शोभायात्रा(Hanuman Jayanti Shobha Yatra) के दौरान दिल्ली के जहांगीरपुरी(Jahangirpuri) में भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस(Delhi Police) ने आज एक बड़ी कार्र्वाई की है. जिसमें बजरंग दल(Bajrang Dal) और विश्व हिंदू परिषद(VHP) पर बिना इजाजत जुलूस निकालने को लेकर f.i.r. दर्ज की गई है.

लोग इसे बड़ी कार्रवाई के रूप में देख रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने इन संगठनों से जुड़े हुए कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया है. पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद(VHP) के जिला सेवा प्रमुख प्रेम शर्मा(Prem Sharma) को हिरासत में लिया है.

वहीं पिछले दिनों दिल्ली पुलिस ने 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. उनमें से मुख्य आरोपी असलम(Aslam) और अंसार(Ansar) की पुलिस रिमांड कोर्ट द्वारा बढ़ा दी गई है. अन्य आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

जहांगीरपुरी हिंसा(Jahangirpuri Violence) से संबंधित आज एक और बड़ी घटना हुई. जब दिल्ली पुलिस वीडियो फुटेज के आधार पर एक आरोपी असलम उर्फ सोनू चिकना की पत्नी को हिरासत में लेने पहुंची तो पुलिस की टीम पर वहां के लोगों ने पथराव किया. जिसके बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गई लेकिन पुलिस ने मामले को नियंत्रित कर लिया और उस महिला को पूछताछ के लिए अपने साथ लेकर गई.

बताते चलें कि सलीम उर्फ सोनू चिकना जिस पर की हनुमान जयंती शोभायात्रा पर गोली चलाने का आरोप है और वीडियो फुटेज में उसे गोली चलाता हुआ देखा जा सकता है, उसकी जानकारी जुटाने के लिए ही पुलिस उसकी पत्नी को गिरफ्तार करने पहुंची थी.

वहीं दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना (Rakesh Asthana Delhi Police) ने अफवाह फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा है कि खासकर सोशल मीडिया(Social Media) पर अफवाह फैलाने वालों पर हम सख्त नजर रख रहे हैं और अगर ऐसा कोई करता हुआ पाया जाता है तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

राकेश अस्थाना ने लोगों से भी अफवाहों से बचने के लिए कहा है. उनका कहना है कि अगर किसी को कुछ जानना या समझना है तो वह पुलिस के पास जा सकते हैं. साथ ही उन्होंने ऐसे वीडियो और फोटो जो कि मामले को भड़का सकते हैं, उसे सोशल मीडिया पर शेयर करने से भी मनाही की है.

बताते चलें कि जहांगीरपुरी हिंसा(Jahangirpuri Violence) में 8 पुलिसकर्मी घायल हुए थे, साथ ही एक नागरिक भी हिंसा की चपेट में आ गया था. इस हिंसा को लेकर 100 से भी अधिक वीडियो फुटेज सामने आए हैं जिससे कि पुलिस द्वारा जांंचा और परखा जा रहा है.

इस मामले में अभी तक 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जबकि दो नाबालिग को भी हिरासत में लिया गया है. जहांगीरपुरी हिंसा(Jahangirpuri Violence) के दौरान चली गोली से घायल होने वाले इंस्पेक्टर मेदा लाल मीणा(Inspector Meda Lal Mina) की सेहत अब ठीक है. आज पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना स्वयं उनसे मिलने उनके घर पर गए थे.