gdm5

Morning news updates(HINDI): Facebook की सुरक्षा में फिर सेंध,टीकाकरण में नर्स की लापरवाही,हेल्थ वर्कर के कोरना टीके के लिए नए रजिस्ट्रेशन पर रोक..

Morning News updates में हम लेकर आते हैं उन सभी खबरों को संक्षिप्त रूप में जो बनती हैं दिनभर की सुर्खियां..
FACEBOOK की सुरक्षा में फिर सेंध, 50 करोड़ यूजर का डाटा इंटरनेट पर फ्री उपलब्ध करवाने का हैकर का दावा

पूरे विश्व में फेसबुक के 2.7अरब यूजर हैं जबकि भारत में 32 करोड़ लेकिन वायरल हो रहे एक खबर ने यूजर्स की नींद उड़ा दी है.

इस खबर में यह दावा किया जा रहा है कि फेसबुक के 50 करोड़ यूजर के पर्सनल डाटा और मोबाइल नंबर को इंटरनेट पर फ्री में उपलब्ध करवाया जा रहा है.

इस संबंध में इजरायल के एलन गल जिनका संबंध इजराइली साइबर क्राइम इंटेलिजेंस फॉर्म हडसन रॉक से है उनका कहना है कि सोशल साइट पर लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि आने वाले कुछ महीनों में हैकर लोगों के डाटा में सेंध लगा सकते हैं.

उनके अनुसार जिस 50 करोड़ डाटा की बात की जा रही है हो सकता है ये वही डाटा हों जिसे जनवरी से इंटरनेट पर सर्कुलेट किया जा रहा है.मालूम हो कि इसमें लोगों के फोन नंबर और प्राइवेट डाटा शामिल हैं.

अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि दावा किए जा रहे 50 करोड़ डाटा में कितने भारतीयों का डाटा है.

इस पर फेसबुक ने सफाई देते हुए यह दावा किया है कि यह पुराना डाटा है जिसे साल 2019 में ही दुरुस्त कर लिया गया था.

यहां लोगों को भी सतर्कता बरतने की जरूरत है फेसबुक पर या किसी भी सोशल मीडिया साइट्स पर प्राइवेसी ऑप्शन में जाकर अपने पर्सनल डिटेल्स को हमेशा पब्लिक मोड से बाहर रखें और साथ ही साथ पर्सनल डिटेल्स में वैसे मोबाइल नंबर का इस्तेमाल ना करें जो कि आपके बैंक या फिर आपके किसी पर्सनल डाटा से कनेक्ट हो.

टीकाकरण में नर्स की लापरवाही 5 मिनट के भीतर ही एक ही महिला को लगा दिया दो बार कोरोनावायरस का टीका

मीडिया रिपोर्ट्स में कानपुर देहात से एक घटना सामने आई है जो बेहद ही हैरान करने वाली है.

कानपुर देहात में एक नर्स (एएनएम) अपने मोबाइल पर बात करने में इस कदर खो गई की एक महिला जो टीकाकरण के लिए आई थी उसे एक टीके की बजाए दो टीके दे दी. और तो और वह भी महज 5 मिनट के अंतराल में.

इस घटना के सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया और मीडिया रिपोर्ट की मानें तो डीएम ने तत्काल प्रभाव से इसके जांच के आदेश दे दिए साथ ही साथ एक नियम भी जारी किया गया कि कोरोना टीका सेंटर पर अब टीकाकरण में संलग्न लोग मोबाइल लेकर नहीं जाएंगे.

मालूम हो कि भारत में अभी तक 7 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना का टीका दिया जा चुका है.

1 अप्रैल से टीकाकरण का दायरा बढ़ाते हुए 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को इसमें शामिल कर लिया गया है.

राज्य सरकारों को केंद्र सरकार का निर्देश, हेल्थ वर्कर के कोरना टीके के लिए नए रजिस्ट्रेशन पर अभी लगाएं रोक

केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को सूचित किया है कि अगले आदेश तक हेल्थ वर्कर के नए registration पर रोक लगा दी जाए क्योंकि स्वास्थ्य विभाग ने पाया है कि इसमें बहुत ज्यादा  अनियमितता की घटना सामने आ रही है. जहां हेल्थ वर्कर के नाम पर दूसरे लोग फर्जी तरीके से टीके के लिए रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं.

क्या भारत में अप्रैल के मध्य से घटने लगेंगे कोरोना के मामले भारतीय वैज्ञानिकों ने स्टडी में किए चौकानेवाले दावे

IIT कानपुर के वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च मॉडल पर स्टडी कर जानकारी सार्वजनिक की है कि अप्रैल मध्य से भारत में कोरोना के मामले घटने लगेंगे. उनके अनुसार अप्रैल मध्य में covid-19 की दूसरी लहर का पिक आ जाएगा ,यहां से मामले घटने शुरू हो जाएंगे. उनका दावा है कि सबसे पहले मामले पंजाब में घटेंगे और फिर महाराष्ट्र में. मालूम हो कि महाराष्ट्र और पंजाब कोरोनावायरस से ज्यादा प्रभावित राज्य हैं. अगर दावे की बात करें तो इससे पहले भी कानपुर के वैज्ञानिकों के द्वारा अनुसंधान पर आधारित अनुमान सही साबित हुआ था. अभी दुनिया भर में कोरोना के मामले 13 करोड़ से अधिक हो गए हैं वहीं 28 लाख से ज्यादा लोग कोरोनावायरस के कारण मौत की भेंट चढ़ गए.

आईपीएल पर कोरोना की टेढ़ी दृष्टि अक्षर पटेल को BIO BUBBLE से रहना होगा बाहर

भारत में IPL की शुरुआत 9 अप्रैल से होने वाली है जिसके लिए आयोजकों की तैयारी और प्रशंसकों का जोश बुलंद है. लेकिन इसी बीच कोरोनावायरस ने देश में रफ्तार पकड़ ली है. जिस कारण आईपीएल पर संकट मंडराने लगा है. मालूम हो कि आईपीएल के 10 मेैंच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले जाने हैं और कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है. महाराष्ट्र में बीते दिन 49 हजार से अधिक केस आये हैं और 270 से अधिक लोगों की मौत हो गई.

वही क्रिकेट के चमकते सितारे अक्षर पटेल(AXAR PATEL) भी covid-19  positive पाए गए हैं.जिस कारण उनके प्रशंसकों के माथे पर बल पड़ने लगा है. मालूम हो कि बीसीसीआई ने covid-19 को लेकर एक स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकाऑल(SOP) बनाया है जिसके अंतर्गत अगर कोई भी खिलाड़ी जिसमें कोरोना के सिम्टम्स दिखते हों या फिर जिनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया हो उन्हें बायो बबल से 10 दिनों तक बाहर रहना होता है. यहां एक बात बताना जरूरी है कि दिल्ली कैपिटल्स (DC) को यह दूसरा झटका लगा है. इससे पहले श्रेयस अय्यर को कंधे की चोट की वजह से पूरे सीजन के लिए बाहर जाना पड़ा था. दिल्ली अपना पहला मैच शनिवार को चेन्नई सुपर किंग(CSK) के खिलाफ मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेलेगी. वही मुंबई की स्थिति कोरोनावायरस के कारण बिगड़ती जा रही है जिसे देखते हुए BCCIऔर IPLकमेटी ने मशवरा किया है कि अगर जरूरत पड़ी तो BACKUP के रूप में मुंबई के सारे मैच को हैदराबाद शिफ्ट किया जा सकता है.