The Bharat Bandhu

Delhi Water Bill: दिल्ली पानी का बिल 31 दिसंबर तक करें जमा कोई विलंब शुल्क नहीं केजरीवाल सरकार की बड़ी घोषणा

Delhi Water Bill

Delhi Water Bill: दिल्ली जल बोर्ड का पानी इस्तेमाल करने वाले लोगों को केजरीवाल सरकार की बड़ी राहत 31 दिसंबर तक नहीं वसूला जाएगा विलंब शुल्क.. Chhath Puja 2022 के नजदीक आते ही Yamuna Pollution पर भी नई घोषणा..

No Late Fees on Delhi Water Bill Hurry Up:  दिल्ली में पानी के बिल को लेकर केजरीवाल सरकार ने एक और बड़ी घोषणा की है. जिसमें पानी के बिल के बकायेदारों का उस पर लगने वाले विलंब शुल्क को 31 दिसंबर तक माफ कर दिया गया है. अब जो भी व्यक्ति अपना बकाया 31 दिसंबर 2022 तक जमा करेंगे, उन्हें पानी के बिल पर किसी प्रकार का विलंब शुल्क नहीं देना होगा.

केजरीवाल सरकार ने आज इस बात की घोषणा कर दी है.मालूम हो कि दिल्ली में प्रति माह प्रत्येक परिवार को 20000 लीटर पानी मुफ्त में दिया जाता है.लेकिन 20000 लीटर से अधिक खर्च करने पर उसका बिल चुकाना होता है.कई बार ऐसा होता है कि लोग अपना बिल समय से नहीं चुका पाते हैं और इस कारण उन्हें विलंब शुल्क देना होता है.

लेकिन केजरीवाल सरकार की आज की इस घोषणा के से उन लोगों को बहुत बड़ी राहत मिलेगी जिन्होंने अपने पानी का बकाया बिल नहीं चुकाया है. क्योंकि केजरीवाल सरकार ने 31 दिसंबर 2022 तक पानी पर विलंब शुल्क नहीं लेने की घोषणा कर दी है.

Pollution Free Yamuna:  दूसरी तरफ केजरीवाल सरकार Chhath Puja 2022 को देखते हुए यमुना नदी की साफ-सफाई को लेकर भी एक अहम घोषणा की है. केजरीवाल सरकार ने साफ कहा है कि यमुना नदी को प्रदूषण से मुक्त किया जाएगा.

बताते चलें हैं कि केजरीवाल सरकार जब सत्ता में आई थी उसके पहले से ही यमुना नदी का प्रदूषण प्रमुख मुद्दा बना हुआ है. और सत्ता में आने के बाद केजरीवाल सरकार ने भी हर बार यह आश्वासन दिया है कि वह यमुना नदी को प्रदूषण मुक्त करेगी.

यमुना को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए केजरीवाल सरकार ने आज एक बेहद महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है. इस प्रोजेक्ट के अनुसार केशोपुर व नजफगढ़ में गिरने वाले 85 MGD Sewage को रोज़ाना साफ़ कर नजफगढ नाले(Najafgarh Drain) में गिराया जाएगा. इस प्रक्रिया से यमुना का प्रदूषण 30% तक कम होने की सभावना है. CM केजरीवाल के अनुसार यह कदम यमुना को साफ़ करने में बहुत मददगार साबित होगा.

New Sewage Pumping Station: यमुना के पानी को साफ़ करने की दिशा में तीन और महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को  आज मंजूरी दी गई है.:– बादली, निगम बोध व मोरी गेट नालों पर कुल 55 MGD के Sewage Pumping Station  बनाए जाएंगे.इससे इन नालों का गंदा पानी यमुना में नहीं जाएगा .

वहीं यमुना नदी को लेकर विपक्षी पार्टियां केजरीवाल सरकार को घेर रही हैं .विपक्षी पार्टियों का कहना है कि जब भी दीपावली(Diwali 2022) के बाद का समय जब छठ पूजा का आयोजन होता है उसके नजदीक केजरीवाल सरकार लोक लुभावने वादे करती है और फिर छठ पूजा बीत जाने के बाद उस वादे को भूल जाती है.

बताते चलें कि दिल्ली में छठ पर्व(Chhath Puja) का आयोजन बेहद ही बड़े पैमाने पर किया जाता है. जिसमें छठ व्रती यमुना घाट पर भी जमा होते हैं और वहां उगते हुए सूर्य और डूबते हुए सूर्य को अर्घ देते हैं.

हर साल कई ऐसी तस्वीरें वायरल होती हैं जिसमें छठ पर्व के दौरान लोगों को जमुना नदी में ऊंचे ऊंचे सफेद झाग के बीच खड़े होकर अर्ध देते हुए देखा जाता है. जिसके बाद हर बार यह मुद्दा उठता है कि आखिर यमुना नदी कब प्रदूषण मुक्त होगी.

देश