Delhi Night Curfew

Delhi Night Curfew: नाइट कर्फ्यू से दिल्ली के व्यापारियों में नाराजगी, लेकिन Omicron के कारण सख्ती भी जरुरी

Delhi Night Curfew: दिल्ली में Omicron के बढ़ते खतरे को देखते हुए Night curfew की शुरुआत कर दी गई है. Night curfew रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक होगा. ऐसा अगले आदेश तक प्रतिदिन जारी रहेगा.

लेकिन दिल्ली में  Night Curfew लगाने से व्यापारियों का एक बडा तबका खासा नाराज है. व्यापारियों का कहना है कि उन्हें जो नाइट में आर्डर मिलते थे उन्हें पूरा करने में अब मुश्किलें आएंगी.

व्यापारियों का कहना है corona ने तो पहले से ही रोजगार धंधे को चौपट कर रखा था, अब धीरे-धीरे सब कुछ पटरी पर आने लगा था लेकिन फिर से नाइट कर्फ्यू के कारण पहले जैसे हालात ही फिर से पैदा हो रहे हैं.

व्यापारियों का कहना एक ढंग से जायज भी है लेकिन corona के बढ़ते मामलों को देखते हुए सख्ती भी जरूरी है. मालूम हो कि दिल्ली में corona के मामले बहुत तेजी से बढ़ते जा रहे हैं.

और यह सब जानते हैं कि corona के मामले तभी बढ़ते हैं जब हम corona नियमों का पालन ना करते हुए भीड़भाड़ को बढ़ावा देते हैं.

दिल्ली में बीते 24 घंटे में corona के 331 मामले दर्ज किए गए. जो कि बीते कई महीनों में सबसे ज्यादा  है साथ ही corona से एक व्यक्ति की मौत भी हुई है.

Corona के नए वेरिएंट Omicron ने  दिल्ली में अपने पैर तेजी से पसारने शुरू कर दिए हैं. अभी तक दिल्ली में कोरोना के नए वैरीअंट Omicron के 142 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

मालूम हो कि कल तक महाराष्ट्र corona के नए वेरिएंट Omicron के मामले में नंबर वन पर था जबकि आज दिल्ली ने उसे पीछे छोड़ दिया.

महाराष्ट्र में अब तक कुल 141 Omicron के मामले दर्ज हो चुके हैं. महाराष्ट्र में भी corona के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं जिस कारण वहां की सरकार भी धीरे- धीरे सख्ती बढ़ाते जा रही है.

Corona के नए वैरीअंट Omicron ने अब उत्तर-पूर्व राज्यों में भी अपने पैर पसारने शुरू कर दिए आज नॉर्थ ईस्ट राज्य मणिपुर में भी एक शख्स ओमी क्रोम से संक्रमित पाया गया. मालूम हो कि यह शख्स मणिपुर में तंजानिया से लौटा था.

अगर बात देश में corona मरीजों की करें तो आज बीते 24 घंटे में 6531 नए मामले दर्ज किए गए वहीं अब देश में omicron का संक्रमण 500 के पार पहुंच गया है. आज महाराष्ट्र में 31 नए केस दर्ज किए गए जबकि केरल में 19 केस दर्ज किए गए.

वर्तमान में देश में कुल ओमिक्रोन संक्रमितों  की संख्या 578 हो गई है. ओमी क्रोन से सबसे ज्यादा प्रभावित 5 राज्यों में दिल्ली महाराष्ट्र केरल गुजरात और राजस्थान शामिल हैं.

केरल में 57, गुजरात में 49 और राजस्थान में 45 ओमी क्रोन के मरीज पाए गए हैं. वही तेलंगाना में 41, तमिलनाडु में 34 और कर्नाटका में 31 मरीजों की पहचान हुई है.मध्य प्रदेश(9) आंध्र प्रदेश(6) और पश्चिम बंगाल(6) मरीज पाए गए हैं.

Covid-19 के प्रभाव को देखते हुए केंद्र सरकार भी सतर्क हो गई है. केंद्र सरकार ने महामारी के प्रभाव के विश्लेषण और इसकी रोकथाम का जायजा लेने के लिए 10 राज्यों में केंद्रीय टीमें भेजी हैं.

कुछ वैज्ञानिकों का दावा है कि ओमी क्रोम जितनी तेजी से फैल रहा है उसे देखते हुए ऐसा लग रहा है कि corona की Third wave जनवरी में आ सकती है लेकिन यह सिर्फ कयास है इसके बारे में कुछ भी अभी स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता.

जिन राज्यों में केंद्रीय टीम को भेजा गया है वे राज्य हैं मिजोरम, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, झारखंड, पंजाब ,महाराष्ट्र, केरल और तमिलनाडु.

केंद्रीय टीमों का मुख्य काम है इन प्रदेशों में  vaccination की रफ्तार को बढ़ाना और वहां स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेना.

कुछ वैज्ञानिकों का यह भी दावा है कि Omicron भले ही ज्यादा संक्रामक है लेकिन इससे ज्यादा खतरा नहीं है.

और यह दावा कुछ हद तक सही भी लगता है क्योंकि अभी तक भारत में जितने भी ओमी क्रोन से संक्रमित मिले हैं उनमें से ज्यादातर मामूली लक्षण वाले थे.

लेकिन अभी किसी भी प्रकार की जल्दबाजी ठीक नही है क्योंकि डेल्टा वैरिएंंट के समय भी लगभग तीन माह तक सब कुछ ठीक ठाक रहा था लेकिन अचानक से इसने कहर बरपाना शुरु कर दिया. जिसके बाद के हालात से तो सभी वकिफ हैं.