LOCKDOWN IN DELHI

Delhi Lockdown: प्रदूषण के कारण दिल्ली लॉक,सभी स्कूल बंद(School Closed), हालात नहीं सुधरे तो प्राइवेट गाड़ियों को भी किया जा सकता है बंद

Delhi Lockdown: प्रदूषण(Pollution) के बढ़ते मामलों के कारण दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में लगाया आंशिक लॉक डाउन(Lockdown). एक हफ्ते के लिए सभी स्कूल(School Closed) रहेंगे बंद.

आज अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal) ने कहा कि अगर हालात नहीं सुधरे तो हम संपूर्ण लॉकडाउन(Lockdown) पर भी विचार कर सकते हैं. केजरीवाल ने यह बात एक चेतावनी के तौर पर कही है.

दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने सभी कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी को रोक दिया है और एक सप्ताह के लिए सभी स्कूलों को बंद कर दिया है.

सभी सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने के लिए कहा गया है. ताजा सर्वे में दिल्ली दुनिया के प्रदूषित शहरों में नंबर एक पर आ गई है.

दिल्ली में AQI का खतरनाक स्तर पहुंचा 500 के पार, प्रदूषित शहरों की लिस्ट में दिल्ली विश्व में सबसे ऊपर

दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स(AQI) 556 तक पहुंच चुका है.दिल्ली का औसत एयर क्वालिटी इंडेक्स(AQI) 499 है. जबकि नोएडा और गाजियाबाद का औसत एयर क्वालिटी इंडेक्स 550 दर्ज किया गया था.

अगर प्रदूषित शहरों की बात करें तो विश्व के टॉप टेन प्रदूषित शहरों में भारत के तीन शहर आते हैं. नंबर एक पर दिल्ली है तो नंबर चार पर कोलकाता और नंबर छह पर मुंबई है.

भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान का शहर लाहौर प्रदूषित शहरों की लिस्ट में नंबर दो पर है. दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 556 रिकॉर्ड किया गया है.वहीं पाकिस्तान के लाहौर का 354, कोलकाता का 177 और मुंबई का 169.

दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को इस बात से समझा जा सकता है कि  फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाले पीएम 2.5 का स्तर 300 पार कर गया था और शाम में यह 381 पर था.

सुरक्षित हवा के लिए पीएम 2.5 का लेवल 60 के करीब होना चाहिए. इससे अधिक होने पर हवा असुरक्षित मानी जाती है.

बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड(CPC) ने चेतावनी दी

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड(CPC) ने चेतावनी दी थी कि दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर गंभीर बना हुआ है. इस कारण स्थानीय निकायों को और राज्य सरकार को आपातकालीन उपायों का चयन करना चाहिए.

केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड ने शुक्रवार को कहा था कि हो सके तो स्कूलों को बंद करना चाहिए और प्राइवेट गाड़ियों पर ऑड इवन लागू करना चाहिए साथ ही प्रदूषण बोर्ड ने सभी कंस्ट्रक्शन वर्क को रोकने की भी बात कही थी.

सुप्रीम कोर्ट(SC) भी आज हुआ था नाराज, केंद्र और दिल्ली सरकार को लगायी थी फटकार

आज सुप्रीम कोर्ट ने भी कड़ा रुख अपनाते हुए दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पूछा था कि आखिर प्रदूषण को रोकने के लिए क्या किया जा रहा है.

सुनवाई के दौरान जजों ने कहा अब तो घर में भी मास्क लगा कर रहना पड़ रहा है. यह स्थिति बहुत ही भयावह है.केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार से कोर्ट ने सोमवार तक अपना जवाब दाखिल करने को कहा था.

सुप्रीम कोर्ट की सख्ती और दिल्ली की जनता के स्वास्थ्य को देखते हुए केजरीवाल सरकार का एक सप्ताह के लिए आंशिक लॉक डाउन का फैसला उचित मालूम पड़ता है.