IPL 2021 COWIN PORTAL

लोगों ने कहा CO-WIN PORTAL पर REGISTRATION में आ रही हैं मुश्किलें पर सरकार ने कहा ये अफवाह, तीन राज्य 1MAY से 18+ उम्र के लोगों को VACCINE देने में असमर्थ वहीं DELHI में कोरोना के बीच IPL

CO-WIN PORTAL पर आ रही हैं मुश्किलें!! 18+ उम्र के लोगों को 1 मई से VACCINE

भारत में 1 मई से covid-19 से बचाव के लिये तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान में 18 से 44 वर्ष के लोगों को पहली बार शामिल किया जा रहा है. जिसके लिए आज से CO-WIN पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के लिए समय की जानकारी नहीं होने की वजह से लोगों को काफी परेशानीयों का सामना करना पड़ा. लोग रात 12:00 बजे के बाद से ही रजिस्ट्रेशन के लिए लॉगइन करने लगे थे लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी. इसके बाद आज सुबह सरकार की तरफ से यह जानकारी दी गई कि आज शाम 4:00 बजे से रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. जब शाम 4:00 बजे लोग रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के लिए    पुनः गए तो यह PORTAL बार-बार क्रैश होने लगा. जिसको लेकर लोग काफी गुस्से में थे और लोगों ने अपनी आपबीती को सोशल मीडिया पर जमकर साझा किया.लेकिन देर शाम सरकार ने बयान जारी कर यह बताया कि CO-WIN पोर्टल पूरी तरह से काम कर रहा है यह क्रैश नहीं हुआ है और जो लोग इस तरह की बातें बोल रहे हैं वह सिर्फ और सिर्फ अफवाह फैलाने का काम कर रहे हैं. वहीं कल 1 दिन में 1.33 करोड़ लोगों ने कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया.

महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के 18+ उम्र के लोगों को vaccine के लिये अभी करना पडेगा इंतज़ार

भारत में कोरोना महामारी पर जल्द से जल्द लगाम लगाने के लिए भारत सरकार ने एक बड़ा कदम उठाते हुए तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान की शुरुआत 1 मई से करने की घोषणा की थी. इस टीकाकरण अभियान में 18 से 44 वर्ष तक के लोगों को पहली बार शामिल किया जा रहा है.भारत के कई राज्यों ने 18 से 44 वर्ष के लोगों को मुफ्त टीका देने की घोषणा की थी. इन राज्यों में कांग्रेस शासित राज्यों के नाम भी शामिल हैं. लेकिन मुक्त टीकाकरण की घोषणा के बाद आज तीन कांग्रेस शासित राज्यों ने अपने हाथ खड़े कर लिए. इन राज्यों ने कहा है कि हम 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण करने के लिए कृत संकल्प है लेकिन इसमें सबसे बड़ी मुश्किल टीकों की उपलब्धता को लेकर है. राज्यों ने कहा हम टीका निर्माण करने वाली कंपनियों को ऑर्डर दे चुके हैं लेकिन या तो उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया या फिर अगर जवाब आया भी है तो वह 15 मई से पहले टीका देने को तैयार नहीं हैंं. इस कारण हम 1 मई से शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान को शुरू करने में असमर्थ हैंं. इन तीन राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के नाम शामिल हैंं. राजस्थान और छत्तीसगढ़ ने 15 मई से 18 प्लस लोगों को वैक्सीन देने की बात कही है तो वहीं महाराष्ट्र ने अभी तक कोई निश्चित तिथि नहीं बताई है.

कोविड-19 में DELHI में  IPL का आयोजन मानवीय संंवेदनाओं पर कुठाराघात

IPL 2021 के 14 वें सीजन के आठ मैच दिल्ली में खेले जाने हैं. जिसकी शुरुआत आज 28 अप्रैल रात्रि 7:30 बजे से होने वाली है. लेकिन दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस आयोजन पर सवाल उठने लगे हैं. कल दिल्ली में 24 हजार नए कोरोना संक्रमित पाए गए वहीं लगभग 400 लोगों की corona से मौत हो गई. इन सब बातों से इतर आईपीएल के आयोजकों का कहना है कि वे कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मैच कराएंगे लेकिन जहां शादी-विवाह, श्राद्ध जैसे आयोजनों में 50 से अधिक लोगों को जमा होने पर रोक है वहीं इतने सारे खिलाड़ीयों और ग्राउंड स्टाफ को लेकर मैच कराना कितना सही है यह तो सरकार और आयोजक ही जानें. मालूम हो कि आज रात्रि 7:30 बजे से चेन्नई सुपर किंग (CSK) और सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के बीच मुकाबला होगा इस मुकाबले को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा. इस आयोजन से जुड़ी सबसे बड़ी चिंता यह है कि कोविड-19 के कारण सभी प्रशासनिक अधिकारी दिन रात काम पर लगे हुए हैं वहीं अगर इस प्रकार के आयोजन किए जाएंगे तो इन पर अनावश्यक कार्य भार का अतिरिक्त बोझ आएगा.. खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए भी दिल्ली पुलिस को जिम्मेदारी लेनी होगी. जबकि पहले से ही पुलिस और इसके अधिकारी रात दिन काम पर लगे हुए हैं. जब बड़े-बड़े राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय आयोजनों को टाला जा रहा है, चुनावी रैलियों को बंद किया जा रहा है, इलेक्शन रिजल्ट के बाद जुलूस निकालने पर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं, फिर संकट के इस माहौल में सिर्फ चंद व्यापारियों और खिलाड़ियों के अनैतिक हित को साधने के लिए corona काल में आईपीएल का आयोजन कराना कहां तक उचित है.

क्या सिर्फ VACCINE से CORONA का अंत हो जायेगा कहीं FREE VACCINE के प्रचार-प्रसार से मामला उल्टा ना हो जाये

COVID-19: कोरोना से देश की हालत गंंभीर, अब VVIP भी इसकी ज़द में…भूलोक तो भूलोक देवलोक में भी इसकी चर्चा ???

COVID-19: कोरोना के इस बुरे दौर में जहां हर तरफ हताशा और निराशा का वातावरण है, इन सब से बाहर निकलने के प्रयास में एक “कविता”