The Bharat Bandhu

Covid19 Vaccination: टीकाकरण की रफ्तार बताती है भारत(India) जल्द ही हासिल कर लेगा लक्ष्य

Covid 19 Vaccination: भारत(India) में टीकाकरण की रफ्तार ने तेजी पकड़ ली है. केंद्र एवं राज्यों की तत्परता और लोगों की जागरूकता के कारण अब ऐसा लगने लगा है वह दिन दूर नहीं जब भारत टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल कर लेगा.

अभी तक 85 करोड़ से भी अधिक वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं. कल बीते 24 घंटे में 72 लाख  से भी अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई. और आज न्यूज़ लिखे जाने तक लगभग 68 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है.

अगर वर्गवार आंकड़ों की बात करें तो लगभग दो करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों, तीन करोड़ से भी अधिक फ्रंट लाइन वर्करों, 40 करोड़ से अधिक 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों, लगभग 23 करोड़ 45 से 59 आयु वर्ग के लोगों और 14 करोड़ से अथिक 60 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों का अभी तक टीकाकरण किया जा चुका है.

ऊपर दिए गए आंकड़ों में पहली और दूसरी डोजों के आंकड़े सम्मिलित हैं. अभी तक सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन उत्तर प्रदेश(UP) में किया गया है, उत्तर प्रदेश में लगभग 10 करोड़ लोगों को वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं. दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र (Maharashtra) आता है जहां लगभग 8 करोड़ लोगों को वैक्सीन के डोज दिए गए हैं.

तीसरे नंबर पर मध्य प्रदेश(MP) है जहां लगभग छह करोड़ लोगों को वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं. वहीं पश्चिम बंगाल (West Bengal) और राजस्थान (Rajasthan) में लगभग 5.5 करोड़ से अधिक लोगों को टीके के डोज दिए जा चुके हैं.

टीकाकरण का कार्यक्रम कुल 66957 केंद्रों पर संचालित हो रहा है जिसमें 63333 सरकारी केंद्र हैं जबकि 3624 प्राइवेट टीकाकरण केंद्र हैं.

अगर बात वैक्सीन के साइड इफेक्ट की करें तो इसकी सूचना देने वालों की संख्या बहुत ही कम है लगभग 0.005% के बराबर. 29 अगस्त से 17 सितंबर के बीच सबसे कम वैक्सीन के साइड इफेक्ट की सूचना यानी AIFI 17 सितंबर को दर्ज की गई.

जहां 29 अगस्त को सिर्फ 22 लोगों ने एडवर्स इफेक्ट की सूचना दी वहीं 17 सितंबर को लगभग 195 लोगों ने एडवर्स इफेक्ट की सूचना दी. मालूम हो कि 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन था और उस दिन भारत ने सबसे अधिक लोगों का टीकाकरण कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया किया था.

 

 

देश