CAA CM YOGI

CAA पर UP CM योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) कानपुर(Kanpur) में कही बड़ी बात

CAA को लेकर UP CM योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) ने कानपुर(Kanpur) के अपने भाषण में एक बार फिर से एक बड़ा बयान दिया है.

CAA पर UP सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान के बाद एक बार फिर से यूपी की राजनीति में  इसकी की एंट्री हो चुकी है.

योगी आदित्यनाथ ने  CAA को मुद्दा बनाकर ओवैसी को सपा का एजेंट बता दिया. योगी आदित्यनाथ ने सख्त लहजे में कहा है कि किसी को भी UP का माहौल खराब करने नहीं दिया जाएगा.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर कोई ऐसा करने की कोशिश करेगा तो सरकार उससे सख्ती से निपटने के लिए हर संभव प्रयास करेगी और हमेशा इसके लिए तैयार है.

आज यूपी के कानपुर में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चाचा जान और अब्बा जान के अनुयाई अगर भावनाओं को भड़का कर उत्तर प्रदेश का माहौल खराब करेंगे तो उनकी सरकार शक्ति का प्रयोग कर इनसे निपटना जानती है.

यूपी सीएम ने ओवैसी अखिलेश और मुलायम सिंह तथा समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को यह मालूम है कि ओवैसी समाजवादी पार्टी का एजेंट बनकर प्रदेश में भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं.

CM योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के अवरुद्ध विकास के लिए विपक्ष को बताया जिम्मेदार

कानपुर की सभा को संबोधित करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस क्षेत्र को प्राकृतिक संपदा से भरपूर बताया और कहा कि यह क्षेत्र देश के विकास में अहम भूमिका अदा कर सकता था.

योगी आदित्यनाथ ने कहा आजादी के बाद जातिवादी और परिवारवादी सोच के लोगों ने कानपुर के सामाजिक ताने-बाने को छिन्न-भिन्न ही नहीं किया बल्कि अपने स्वार्थ के लिए इस क्षेत्र के विकास को भी बाधित किया.

J P Nadda का कानपुर में कश्मीर(j&k) राग

BJP के जेपी नड्डा(J P Nadda) ने भी आज कानपुर में भाषण दिया. सभा को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा ने कश्मीर पर फोकस किया और कहा कि बीजेपी के कारण ही आज कश्मीर में वैसे 800 कानून जो कि कभी लागू नहीं होते थे अब सभी लागू होते हैं.

जेपी नड्डा ने कहा भारत के 800 से ज्यादा कानून J&K में लागू नहीं थे. उन्होंने भ्रष्टाचार अधिनियम के बारे में भी कहा कि J&K में भ्रष्टाचार विरोधी अधिनियम लागू नहीं था लेकिन अब  Article 370 हटाने के बाद वहां का माहौल बदल चुका है.

जेपी नड्डा ने कॉन्ग्रेस, महबूबा मुफ्ती और अब्दुल्ला परिवार का बिना नाम लिए ही कहा कि 370 हटने से पहले कश्मीर में सिर्फ 3 परिवार मौज मना रहे थे.

इन सब बातों से ये अब साफ होने लगा है कि उ.प्र में विधानसभा चुनाव एक बार फिर से जाति धर्म और जम्मू कश्मीर को ही मुद्दा बनाकर लडा जाने वाला है.

Subscribe the bharat bandhu for more political updates