Bulli Bai app Case Updates

Bulli Bai app Case Updates: आरोपी Vishal Jha गिरफ्तार, 10 जनवरी तक Police custody, मुस्लिम महिलाओं की नीलामी के लिए बनाया था Bulli Bai app

Bulli Bai app Case Updates: मुस्लिम महिलाओं की नीलामी के लिए बनाए गए Bulli Bai app  Case में Vishal Jha 10 दिन की पुलिस रिमांड पर ,मूल रूप से Bihar का रहने वाला है आरोपी, उत्तराखंड की महिला मित्र के साथ मिलकर रचा था सारा षड्यंत्र

देश और दुनिया में  इन दिनों  Bulli Bai app के चर्चे जोरों पर है. इस ऐप के जरिए मुस्लिम महिलाओं खासकर वह महिलाएं जो की सोशली एक्टिव रहती थी उनकी तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ करके नीलामी की जाती थी.

यह एप्लीकेशन पूरी तरह से फर्जी और गैरकानूनी है. इस पर जिन महिलाओं की तस्वीरें लगाई जाती थी उनको यह पता भी नहीं था कि उनकी तस्वीरों के साथ ऐसा किया जा रहा है.

आज इस संबंध में मुंबई पुलिस ने मूल रूप से बिहार के रहने वाले विशाल झा को गिरफ्तार किया और उसके बाद कोर्ट ने उसे 10 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है.

इसमें सबसे बड़ा खुलासा आज हुआ है जब यह पता चला कि इस ऐप को बनाने में मास्टरमाइंड एक महिला है यह महिला जैसा कि बताया जा रहा है मूल रूप से उत्तराखंड की रहने वाली है.

इस महिला की जान पहचान सह आरोपी विशाल झा से सोशल मीडिया के माध्यम से हुई थी. उसके बाद दोनों ने मिलकर यह प्लानिंग की, एक ऐसा ऐप बनाया जाए जिस पर मुस्लिम महिलाओं की नीलामी की जाए.

मालूम हो कि कुछ दिन पहले भी एक ऐसा ही ऐप बनाया गया था जिस पर भी मुस्लिम महिलाओं को ही टारगेट किया गया था और उनकी छेड़छाड़ की हुई तस्वीरों को लगाकर नीलामी की बातचीत की जा रही थी.

लेकिन इस बार यह मामला इसलिए गंभीर हो गया क्योंकि इसमें जिन महिलाओं की तस्वीरों को इस्तेमाल किया गया है वह काफी हाईप्रोफाइल हैं. जिसमें रेडियो जगत की जानी मानी हस्ती भी शामिल हैं.

इस ऐप को बनाने की पीछे इनका क्या मकसद है, यह तो पुलिस जांच कर ही रही है लेकिन इतना तो साफ है कि इन लोगों का मकसद सिर्फ और सिर्फ मुस्लिम महिलाओं को टारगेट करना था.

दिल्ली पुलिस भी इस मामले पर जांच आगे बढ़ा रही है लेकिन अभी तक दिल्ली पुलिस की तरफ से कोई बड़ी कार्यवाही नहीं की गई है.

महिला निकली मास्टरमाइंड: जिस महिला को उत्तराखंड से गिरफ्तार किया गया है उस महिला पर आरोप है कि वह महिला इस पूरे खेल की मास्टरमाइंड है और यही महिला मुस्लिम महिलाओं की बोली लगवा रही थी.

इस मामले में एक और बड़ा खुलासा यह हुआ है कि कि आरोपी विशाल झा ने सोशल मीडिया पर khalsa supremacist  के नाम से एक खाता खोल रखा था.

आरोपी महिला और लड़का दोनों ने ही अपने नाम बदलकर सोशल मीडिया पर एक नहीं बल्कि कई अकाउंट खोल रखे थे. लड़के की पहचान तो पुलिस ने उजागर कर दी है लेकिन अभी तक जिस महिला को गिरफ्तार किया गया है उसकी पहचान को गुप्त रखा गया है.

बताते चलें कि Bulli Bai App को GitHub प्लेटफार्म पर बनाया गया था. अब पुलिस इस प्लेटफार्म की जांच भी कर रही है. इस app पर जिन महिलाओं को ऑक्शन के लिए रखा गया था उसमें जनरलिस्ट लॉयर रेडियो जॉकी इत्यादि के नाम शामिल हैं.

मुंबई पुलिस ने इस घटना को लेकर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत आरोपियों पर केस दर्ज किए हैं.

आरोपियों पर लगाई गई मुख्य धाराएं हैं 153A इसके अंतर्गत धार्मिक आधार पर विभिन्न समुदायों के बीच भेदभाव को बढ़ावा देना, 500 आपराधिक मानहानि, 509 महिला सम्मान को ठेस पहुंचाने,  153B जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने की कोशिश, 354d पीछा करना इत्यादि शामिल है.

मालूम हो कि पुलिस ने इस केस में इनफॉरमेशन एंड टेक्नोलॉजी एक्ट(IT Act) की धारा 67 का भी इस्तेमाल किया है. जिसके अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफार्म पर आपत्तिजनक चीजों को पब्लिश करने पर प्रतिबंध है.

अभी जिस युवती को मुंबई पुलिस में उत्तराखंड से गिरफ्तार किया है उसे मुंबई लाने की तैयारी की जा रही है. उसे मुंबई ट्रांजिट रिमांड पर लाया जाएगा. जिसके लिए कानूनी कार्यवाही की जा रही है.

इस मामले में और भी लोग शामिल हैं या फिर यही दोनों लोग ही मुख्य रूप से इस मामले में शामिल हैं इस बात का खुलासा अभी होना बाकी है.

विदेशी मिडीया में भी इस घटना को लेकर काफी चर्चा हो रही है. देखिये ये वीडियो जिसे TRT World द्वारा इसी घट्ना के संर्दभ में बनाया गया है