Booster Dose

Booster Dose: Frontline Workers और 60+ उम्र के लोगों को दिया जाएगा Covid-19 का Booster Dose

Booster Dose: Frontline Workers और 60+ उम्र के लोगों को Covid-19 के Booster Dose देने की शुरुआत हो चुकी है, इस बार फ्रंटलाइन वर्कर्स का दायरा बढ़ा दिया गया है, जानिए इसमें और कौन-कौन से लोगों को किया गया है शामिल

Corona के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए देश में फ्रंटलाइन वर्कर और बुजुर्ग लोगों को अतिरिक्त सुरक्षा कवच के रूप में corona Vaccine की Booster Dose  लगाई जा रही है.

नाम से ना हों कनफ्यूज Precaution Dose, Booster Dose और Third Dose तीनों एक ही हैंं..

Corona के बूस्टर डोज( Booster Dose)को लेने के लिए आपका या तो 60 प्लस उम्र का होना या फिर फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में आना जरूरी है.

लेकिन सिर्फ यही दो मापदंड नहीं है जिससे कि आप corona के बूस्टर डोज के लिए योग्य हो जाएंगे बल्कि सरकार ने इसके लिए कुछ और भी मापदंड तय किए हैं.

सबसे पहली बात यह है कि फ्रंटलाइन वर्कर का इस बार दायरा बढ़ा दिया गया है.U P सहित पांच राज्यों में होने वाले चुनावों को देखते हुए  इस बार चुनाव कर्मियों को भी फ्रंटलाइन वर्कर्स मानकर Covid-19 Vaccine का तीसरा डोज यानी बूस्टर डोज दिया जा रहा है.

जिन बुजुर्गों को corona का बूस्टर डोज दिया जा रहा है उनके लिए यह जरूरी है कि उनको corona वैक्सीन के दोनों डोज पहले ही लग चुके हो साथ ही दूसरे डोज और बूस्टर डोज के बीच 9 महीने का गैप होना चाहिए.

यहां यह ध्यान देने योग्य बात है कि सिर्फ जिन बुजुर्गों को स्वास्थ्य संबंधी विशेष समस्याएं हैं, जिससे कि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहद कमजोर हो चुकी है उन्हें ही वैक्सीन का तीसरा डोज लेने के लिए कहा गया है.

प्रिकॉशन डोजि या बूस्टर डोज लेने के लिए किसी भी सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं होगी लेकिन बुजुर्गों को यह हिदायत दी गई है कि वह बूस्टर डोज लेने से पहले डॉक्टर से सलाह मशवरा जरूर कर लें.

इस बार पांच राज्यों में होने वाले चुनावों के कारण इसमें शामिल होने वाले चुनाव कर्मियों को जिनकी संख्या लगभग तीन करोड़ के आसपास है उन्हें भी चुनाव आयोग के निर्देश पर वैक्सीन की तीसरी डोज दी जा रही है.

बूस्टर डोज लेने के लिए वही प्रक्रियाअपनाई जाएगी जो कि अन्य दो डोज के लिए अपनाई गई थी यानी Co-win App का इस्तेमाल किया जाएगा या फिर सीधे वैक्सीन सेंटर पर भी जाकर बूस्टर डोज को लिया जा सकता है.

यहां याद रहे की सभी वैक्सीन सेंटर पर बूस्टर डोज की उपलब्धता नहीं होगी. इसके लिए आपको सबसे पहले co-win app पर जा कर यह पता करना होगा कि किस वैक्सीन सेंटर में बूस्टर डोज की व्यवस्था की गई है.

सरकारी वैक्सीन सेंटर पर बूस्टर डोज मुफ्त में दिया जाएगा लेकिन प्राइवेट हॉस्पिटल या फिर प्राइवेट टीका केंद्रों पर इसके लिए भुगतान करना होगा.

60 प्लस उम्र के लोगों के लिए सरकार ने उन बीमारियों की सूची जारी कर दी है जो कि अगर किसी बुजुर्ग को हो तो वह वैक्सीन लेने के लिए मान्य हैं.

इसमें उन लोगों को वरीयता दी गई है जिन्हें डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हार्ट फेल्योर ,पोस्ट कार्डियक ट्रांसप्लांट, जन्मजात हार्ट डिजीज इत्यादि समस्याएं हों.