Birbhum Murder Case

Birbhum Murder Case Updates: बीरभूम हत्याकांड मामले में CBI की जांच शुरु, दर्ज़ FIR में चौकाने वाली बातें, बढ़ सकती है ममता बनर्जी की मुश्किलें

Birbhum Murder Case Updates: पश्चिम बंगाल के बीरभूम में 8 लोगों को जिंदा जला देने वाले मामले में CBI की FIR में बड़ा खुलासा 70 से 80 लोगों ने मिलकर किया था हमला, तोड़फोड़ की घटना के बाद घरों में लगा दी थी आग

पश्चिम बंगाल(West Bengal) के बीरभूम(Birbhum) में बीते 21 मार्च को 8 लोगों को घर में बंद कर जिंदा जला दिया गया था. इस मामले को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार की काफी आलोचना हो रही थी.

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने हत्याकांड की जांच के लिए विशेष जांच दल(SIT) गठित करने की बात कही थी लेकिन कलकत्ता हाईकोर्ट ने राज्य सरकार के इस फैसले को ठुकरा दिया था और इस मामले की जांच का जिम्मा CBI को सौंप दिया था.

कलकत्ता हाई कोर्ट ने सीबीआई को 7 अप्रैल तक रिपोर्ट सौंपने को कहा है. सीबीआई ने आज इस मामले को लेकर पहली एफ आई आर दर्ज करा दी है.

सीबीआई द्वारा दर्ज. FIR में कुछ ऐसे खुलासे हुए हैं जिससे अब यह साफ होने लगा है कि इस जघन्य हत्याकांड को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया था.

सीबीआई द्वारा दर्द FIR में यह कहा गया है कि घटना के दिन यानी 21 मार्च को 70 से 80 लोगों ने पहले तोड़फोड़ की और बाद में हत्या की मंशा से घर में आग लगा दी जिसमें कि 8 लोगों की जलकर मौत हो गई.

सीबीआई ने इस हत्याकांड के संबंध में अभी तक 21 लोगों का नाम एफआईआर में दर्ज किया है. हाईकोर्ट द्वारा सीबीआई को केस सौपे जाने के कारण ममता बनर्जी की सरकार बैकफुट पर आ गई है क्योंकि  बंगाल सरकार ने इस केस को सीबीआई को सौंपे जाने का हाईकोर्ट में विरोध किया था, जिसे हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था.

बंगाल में आए दिन बढ़ती हिंसा की घटना से यहां की कानून व्यवस्था को लेकर एक बार फिर से सवाल उठने लगे हैं. भारतीय जनता पार्टी की सांसद रूपा गांगुली ने संसद में बंगाल में लगातार घट रही हिंसा की घटना को लेकर बड़ी बात कही.

संसद में रूपा गांगुली ने कहा कि बंगाल अब रहने लायक नहीं है. यहां रोज लोगों की हत्याएं हो रही हैं. अब लोग बंगाल से पलायन कर रहे हैं इस कारण जल्द से जल्द बंगाल में राष्ट्रपति शासन की व्यवस्था की जाए नहीं तो बंगाल जीने लायक नहीं बचेगा.