Bihar Hajipur Muslim Sadhu Baba Viral Video

Bihar Hajipur Muslim Sadhu Baba Viral Video: बिहार हाजीपुर में UP के मुस्लिम युवकों ने धरा हिंदू साधु का वेश बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर बेरहमी से पीटने का आरोप वीडियो हुआ वायरल

Bihar Hajipur Muslim Sadhu Baba Viral Video: बिहार हाजीपुर में साधु बने यूपी के मुस्लिम युवकों को बेदर्दी से पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल पीटने वालों में बजरंग दल के जिला अध्यक्ष का नाम आया सामने!! 

बिहार के हाजीपुर( Bihar Hajipur) में बीते दिन कुछ मुस्लिम युवकों द्वारा हिंदू साधु का वेश धरकर भिक्षा मांगने का काम किया जा रहा था. इसकी भनक बजरंग दल(Bajrang Dal) के कार्यकर्ताओं को लग गई और वे मौके पर पहुंच गए. मौके पर पहुंचने के बाद उन्होंने पहले तो सभी लोगों से उनका असली नाम जाना और जैसे ही पता चला कि सभी मुस्लिम हैं तो उनकी जमकर पिटाई की.

और पिटाई भी ऐसी वैसी नहीं बल्कि इतनी बेरहमी से की पिटाई का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में यह साफ देखा जा सकता है कि एक शख्स जिसे बजरंग दल का जिला अध्यक्ष बताया जा रहा है और उसका नाम आर्यन सिंह बताया जा रहा है. वह बेरहमी से इन सभी युवकों की बारी बारी से पिटाई कर रहा है. और सबसे बड़ी बात यह है कि जब वह पिटाई कर रहा था  पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है.

पिटाई करने वाले बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का हौसला इतना बढा हुआ था कि वो पिटाई भी कर रहे थे और वीडियो भी बना रहे थे. वीडियो में जिस शख्स को बजरंग दल का जिलाध्यक्ष बताया जा रहा है वह यह भी कहता है कि ये सभी रोहिंग्या मुसलमान हैं और हमारे हिंदू धर्म का अपमान कर रहे हैं.

पुलिस के अनुसार सभी युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई और उनके पते का सत्यापन भी किया गया. पुलिस ने यह भी बताया कि सभी युवकों को सत्यापन के बाद बांड भरवा कर छोड़ दिया गया है. जहां इस मामले में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि ये सभी लोग किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे और कई दिनों से इसी तरह से घूम रहे थे.

वहीं जिन छः मुस्लिम युवकों को गिरफ्तार किया गया था उनका कहना था कि वे सभी भिक्षा मांग कर अपना पेट भरते हैं और यह उनका पुश्तैनी पेशा है. वहीं आर्यन सिंह ने इस घटना को लेकर यह साफ कहा है कि ये लोग साधु बनकर हिंदू समाज की भावना से खिलवाड़ कर रहे थे और हम ऐसा नहीं होने देंगे.

पुलिस ने भी इस मामले में यह कहा है कि इन लोगों का सत्यापन करा लिया गया है और इसके पश्चात इन लोगों को बांड भरवा कर छोड़  दिया गया है. पुलिस ने बताया कि ये सभी गरीब तबके के लोग हैं जो भिक्षा मांगकर अपना जीवन यापन करते हैं.

जैसे ही सोशल मीडिया पर मुस्लिम युवकों को पीटने वाला वीडियो वायरल हुआ वैसे ही लोगों की प्रतिक्रियाएं आने शुरू हो गई. जहां कुछ लोग इसे एक साजिश बता रहे हैं तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि गरीबी सब कुछ करा देती है और पेट पालने के लिए चोरी करना पाप है लेकिन भिक्षा मांगना पाप नहीं है.

इन सभी बातों के बीच इस बात का जवाब अभी भी नहीं मिल पाया है कि आखिर ये लोग हिंदू साधुओं के वेश में क्यों भिक्षा मांग रहे थे. जब हमने इस मामले पर कुछ लोगों से बातचीत की तो उनका कहना था कि ऐसा अक्सर होता है कि कुछ लोग हिंदू साधुओं के भेश में भिक्षा मांगने आ जाते हैं इसके पीछे जो मूल कारण है वह यह है कि इससे उन्हें अच्छा खासा दान मिल जाता है.

जिन मुस्लिम युवकों को वेश बदलकर भीख मांगते हुए गिरफ्तार किया गया है उनके पास से एक बसहा बैल भी बरामद किया गया. ये लोग सावन का महीना होने के कारण लोगों के पास और गांव घर में जाते थे और बसहा बैल को दिखाकर भिक्षा मांगते थे.पूरे मामले पर गौर करें तो यही बात सामने आती है कि इनका सिर्फ एक ही मकसद था भीख में ज्यादा से ज्यादा कमाई. वैसे पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है और अभी से किसी नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी.