Amazon Future deal

Amazon Future Deal: अमेजॉन फ्यूचर ग्रुप डील में CIC ने अमेजॉन पर लगाया 200 करोड़ का जुर्माना, Reliance retail के लिए राहत भरी खबर

Amazon Future Deal: अमेजॉन फ्यूचर ग्रुप डील को लेकर आज प्रतिस्पर्धा आयोग(CIC) ने एक अहम फैसला सुनाया जिससे Reliance Retail को बड़ी राहत मिली है.

साल 2020 में Reliance और Future Group के बीच 24 हजार करोड़ से भी अधिक की डील हुई थी लेकिन अमेजॉन ने इस डील को लेकर आपत्ति जताई थी.

अमेजॉन ने अक्टूबर 2020 में रिलायंस फ्यूचर ग्रुप डील को लेकर सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन का दरवाजा खटखटाया. इसके बाद सिंगापुर इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन(SIAC) ने इस डील पर रोक लगा दी.

इसके बाद फ्यूचर ग्रुप ने प्रतिस्पर्धा आयोग में याचिका दायर की. प्रतिस्पर्धा आयोग ने डील पर रोक लगाने से मना कर दिया था. आज इसी संबंध में अंतिम फैसला आ गया है जिसमें Future Amazon deal को रद्द कर दिया गया  और साथ ही अमेज़न पर जानकारी छुपाने के कारन प्रतिस्पर्धा आयोग ने 200 करोड़ का जुर्माना भी लगाया.

मालूम हो कि यह साल 2019 का मामला है जब अमेजन ने फ्यूचर कूपन में 15 सौ करोड़ रुपए लगाकर 49% की हिस्सेदारी खरीदी थी.

मालूम हो कि फ्यूचर रिटेल ने फ्यूचर कूपन की 7.3% की हिस्सेदारी बनती थी यानी इस प्रकार से अमेज़न ने फ्यूचर रिटेल के रास्ते फ्यूचर कूपन की भी हिस्सेदारी खरीद ली. लेकिन साल 2020 में फ्यूचर रिटेल ने रिलायंस रिटेल के साथ साझेदारी कर ली.

इस साझेदारी के बाद अमेजन ने फ्यूचर रिलायंस डील को लेकर आपत्ति जताई उसका कहना था कि यह डील पूरी तरह से अवैध है क्योंकि फ्यूचर रिटेल में उसकी 49% हिस्सेदारी है.

अमेजन ने इस डील को रोकने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट का भी दरवाजा खटखटाया था लेकिन दिल्ली हाईकोर्ट ने इस डील पर रोक लगाने से मना कर दिया था.

अमेज़न को उस समय एक तगड़ा झटका और भी लगा जब सेबी ने रिलायंस और फ्यूचर रीटेल के बीच डील को अपनी तरफ से मंजूरी दे दी थी.

आज के इस फैसले के बाद रिलायंस कंपनी रिटेल मार्केट में अपनी पकड़ को और मजबूत कर लेगी.