after repeal of article 370

कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद(After Repeal of article 370) कश्मीरी पंडितों और हिंदुओं के पलायन पर सरकार का संसद में कबूल नामा

धारा 370 हटने के बाद(After Repeal of article 370) कश्मीरी पंडितों और हिंदुओं के पलायन पर सरकार ने  संसद में एक रिपोर्ट पेश की है.

इस रिपोर्ट के अनुसार धारा 370 के हटने के बाद(After Repeal of article 370) जम्मू कश्मीर से कश्मीरी हिंदुओं और कश्मीरी पंडितों का कोई भी पलायन नहीं हुआ है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आज राज्यसभा में कश्मीर से article 370  के खत्म होने के बाद कश्मीरी हिंदुओं के पलायन को लेकर आज एक रिपोर्ट पेश किया. इस रिपोर्ट में सिर्फ कश्मीरी पंडितों और हिंदुओं और कश्मीरी पंडितों के पलायन का ही जिक्र नहीं है बल्कि और भी बातों का जिक्र है.

इस रिपोर्ट में यह कबूल किया गया है कि 5 अगस्त 2019 जब कश्मीर से धारा 370 का खात्मा हुआ उसके बाद से लेकर 30 नवंबर 2021 तक कश्मीर से किसी भी कश्मीरी पंडित का या फिर कश्मीरी हिंदुओं का पलायन नहीं हुआ है.

इस रिपोर्ट में इस बात का भी खुलासा किया गया है कि 5 अगस्त 2019 से 30 नवंबर 2021 तक 96  आम नागरिक जम्मू कश्मीर में मारे गए हैं.

साथ ही इस रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि सिक्योरिटी फोर्सेस के 81 जवानों की मौत भी इस दौरान हुई है.

मालूम हो कि विपक्ष और कश्मीर से आने वाले कई नेता यह आरोप लगा रहे थे कि धारा 370 खत्म होने के बाद कश्मीर के हालात अच्छे नहीं है.

सरकार की इस रिपोर्ट में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि खासकर कश्मीरी पंडितों  के परिवारों की कुछ महिलाएं कश्मीर से जम्मू आई हैं. जिनके साथ बच्चे भी हैं लेकिन इसके पीछे जो कारण है वह यह है क इनमें से अधिकतर सरकारी कर्मचारीयों के परिवार वाले हैं.

धारा 370 हटने के बाद सरकार का कबूल नामा
धारा 370 हटने के बाद सरकार का कबूल नामा

मालूम हो कि पिछले कुछ महीनों से जम्मू कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियां बढ़ गई हैं. जिस कारण से ऐसा कहा जाने लगा था कि कहीं ऐसा ना हो कि जम्मू-कश्मीर के हालात फिर से 90 के दशक वाले हो जाएं.

सरकार के इस स्पष्टीकरण से यह तो साफ जाहिर होता है कि सरकार इस बात को लेकर प्रयासरत है कि कश्मीर से किसी भी प्रकार का पलायन ना हो और वहां रहने वाले कश्मीरी हिंदू और कश्मीरी पंडितों के घर वाले अपने आप को सुरक्षित महसूस करें.

हाल के महीनों में आतंकवादियों के निशाने पर कश्मीरी पंडित और कश्मीर में बाहर के रहने वाले लोग रहे हैं.जिस कारण कश्मीर में बाहर से रहने वाले लोगों में एक भय का वातावरण अभी भी व्याप्त है.

यह भी पढ़ें..

प्रियंका गांधी(Priyanka Gandhi) का यूपी चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी. प्रियंका गांधी ने कहा राजनीति में महिलाओं की हिस्सेदारी हम 40% शुरू कर रहे हैं एक दिन यह 50% बने यही हमारी चाहत.

प्रियंका गांधी ने महिलाओं के लिए घोषणा करते हुए कहा कि ग्रेजुएशन कर रही लड़कियों को हम स्कूटी मुफ्त में देंगे साथ ही महिलाओं को खाना बनाने के लिए 1 साल में तीन LPG सिलेंडर मुफ्त में दिया जाएगा.