Delhi Dwarka Acid Attack On Girl

Delhi Dwarka Acid Attack On Girl: दिल्ली के द्वारका में नाबालिक लड़की पर तेजाब फेंकने की घटना CCTV फुटेज आया सामने

Share

Delhi Dwarka Acid Attack On Girl: दिल्ली के द्वारका में सुबह-सुबह नाबालिक लड़की पर फेंका तेजाब CCTV फुटेज में दिखी मनचलों की नापाक हरकत

दिल्ली नाबालिक लड़की पर तेजाब फेंकने की घटना(Delhi Acid Attack) को लेकर हर तरफ गुस्से का माहौल है. इस घटना पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी अपना दुख प्रकट किया है साथ ही उन्होंने बेटियों की सुरक्षा(Women Security Delhi) को लेकर बड़ी बातें कही है.

दरअसल आज सुबह करीब 7.00 बजे दिल्ली के द्वारका(Delhi Dwarka Acid Attack )इलाके में एक स्कूली छात्रा पर दो लोगों ने तेजाब फेंका था. तेजाब फेंकने में शामिल दोनो युवक बाइक पर सवार थे.

छात्रा सफदरजंग अस्पताल(Safdarjung Hospital) में इलाजरत है. दिल्ली जिसे अगर कुछ मामलों को छोड़ दिया जाए तो लड़कियों के लिए अति सुरक्षित मानी जाती है. क्योंकि यह प्रदेश की राजधानी के साथ-साथ देश की राजधानी भी है और ऐसे में दिनदहाड़े नाबालिक लड़की पर तेजाब फेंका जाना(Acid Attack On Delhi Girl) शासन प्रशासन पर कई गंभीर सवाल खड़े करते हैं.

इस घटना के बाद महिला आयोग ने भी संज्ञान लेते हुए प्रशासन के प्रति नाराजगी जाहिर की है. वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री(CM Delhi) अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में जो Acid Attack की घटना हुई है ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जाए ऐसी मैं मांग करता हूं.

दिल्ली dwaraka में नाबालिक लड़की पर एसिड अटैक की एक CCTV फुटेज भी सामने आया है. जिसमें या दिख रहा है की एक छात्रा सड़क किनारे खड़ी है. तभी बाइक सवार दो युवक वहां से गुजरते हैं और पीछे बैठा युवक एक तरल पदार्थ लड़की की तरफ फेंकता है.

दिल्ली पुलिस(Delhi Police On Acid Attack Incident) ने मीडिया को यह बयान दिया है कि यह घटना द्वारक (Dwarka) के मोहन गार्डन(Mohan Garden Dwarka Delhi) इलाके में हुई है. इस घट्ना के सबंध में सुबह 9:00 बजे PCR पर एक कॉल आई थी. पुलिस ने यह बताया कि जिस समय नाबालिक लड़की पर जिसकी उम्र 17 साल है एसिड अटैक किया गया उस समय उसके साथ उसकी छोटी बहन भी थी.

वही इस मामले को लेकर यह बात भी सामने आई है कि इस घटना में संलिप्त जो दो लोग हैं वह दोनों लोग लड़कियों के परिचित हैं. क्योंकि लड़कियों ने इस घटना को लेकर दो परिचितों पर शक जताया है. लड़कियों की शिकायत के बाद एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है और दिल्ली पुलिस आगे की जांच कर रही है.

अगर पीड़िता के पिता के बयान को मध्य नजर रखें तो उनका कहना है कि मुझे इस घटना की जानकारी मेरी छोटी बेटी से मिलि जो कि मेरी बड़ी बेटी के साथ वहां खड़ी थी और इस घटना की चश्मदीद भी है. पिता ने कहा कि मेरी छोटी बेटी बेहद ही हड़बड़ाहट में भागते हुए घर आई और उसने कहा कि दीदी पर एसिड अटैक हो गया है. क्योंकि लड़कों के चेहरे ढके हुए थे इसलिए बेटी उनको पहचान नहीं पाई. पीड़िता की हालत की बात करें तो पिता ने बतलाया कि उसकी हालत अभी नाजुक है. लड़की पर हुए एसिड अटैक में लड़की की  दोनों आंखों को नुकसान होने का अंदेशा लगाया जा रहा है.

जब मीडिया ने लड़की के पिता से पूछा कि क्या लड़की ने पहले भी कोई ऐसी शिकायत की थी कि कोई उसे परेशान कर रहा है तो पिता का कहना था कि लड़की ने कभी भी ऐसी कोई शिकायत नहीं की. अगर वह ऐसी शिकायत करती तो आज मेरी बेटी सुरक्षित होती क्योंकि मैं हमेशा उसके साथ रहता.

अब इस घटना को लेकर दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने अपना बयान जारी किया है. मालीवाल ने कहा है कि दिल्ली में खुदरा तेज़ाब बिक्री पर रोक क्यों नहीं लगाई जाती. यह एक गंभीर सवाल है और ऐसी घटनाओं के लिए यह जिम्मेदार है. बताते चलें कि तेजाब की खुले में खरीद-बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध है. लेकिन फिर भी दिल्ली में गली मोहल्लों में आराम से ऐसे  तेजाब बेचने वाले लोग साइकिलों पर देखे जा सकते हैं. जिनसे कि कोई भी आसानी से तेजाब खरीद सकता है और ऐसी घटनाओं को अंजाम देने में सहूलियत भी मिल जाती है.

Scroll to Top